Sanskriti University में तकनीकी दक्षता बढ़ाएगी सीएनसी मशीन

मथुरा। तकनीकी शिक्षा के क्षेत्र में छात्र-छात्राओं को विश्व प्रतिस्पर्धी बनाने के साथ ही उनमें आधुनिक टेक्निक का समावेश करने की खातिर संस्कृति यूनिवर्सिटी ने अपने सेण्टर आफ एक्सीलेंस में कम्प्यूटराइज्ड न्यूमेरिकल कंट्रोल मशीन (सीएनसी) को भी जगह दे दी है। अब छात्र-छात्राओं को आधुनिक तकनीकी ज्ञान के लिए मथुरा से बाहर जाने की जरूरत नहीं होगी।

ज्ञातव्य है कि Sanskriti University और एमएसएमई पीपीडीसी आगरा के संयुक्त प्रयासों से यहां सेण्टर आफ एक्सीलेंस संचालित है। इस सेण्टर में रोबोटिक के साथ ही आधुनिकतम तकनीकी मशीनें मौजूद हैं। संस्कृति यूनिवर्सिटी प्रबंधन ने तकनीकी बदलाव के इस दौर में छात्र-छात्राओं को कौशलपरक शिक्षा में पारंगत करने के लिए एमएसएमई पीपीडीसी आगरा से अनुबंध किया है। सेण्टर आफ एक्सीलेंस की जहां तक बात है, यह उत्तर प्रदेश का इकलौता सेण्टर है। हाल ही यहां कम्प्यूटराइज्ड न्यूमेरिकल कंट्रोल मशीन (सीएनसी) को स्थापित किया गया है।

मैकेनिकल इंजीनियरिंग के विभागाध्यक्ष विंसेट बालू का कहना है कि आज के समय में आटोमेशन और मैन्यूफैक्चरिंग कम्पनियां सीएनसी मशीन पर ही आश्रित हैं। इस मशीन को ऑपरेट करना बहुत ही सुरक्षित होता है यही कारण है कि आजकल इस मशीन की डिमांड बहुत ज्यादा है। दूसरी मशीनों की तुलना में इस मशीन का प्रोडक्शन बहुत ही ज्यादा होता है यही कारण है कि आजकल इंडस्ट्रीज में खासकर प्रोडक्शन में सीएनसी मशीन का उपयोग लगातार बढ़ता जा रहा है। श्री बालू का कहना है कि आजकल मार्केट में सीएनसी मशीनों की बहुत सी किस्में उपलब्ध हैं जिसमें किसी में 2 एक्सेस, किसी में 3 एक्सेस, किसी में 4 एक्सेस और किसी में 5 से 7 एक्सेस होते हैं। कोई होरिजेंटल काम करता है कोई वर्टिकल काम करता है। मशीन के कंट्रोल सिस्टम भी अलग-अलग होते हैं। अभी तक इस लाइन में 5 कंट्रोल सिस्टम ही ज्यादा यूज किए जाते हैं। प्रो. निर्मल कुंडू का कहना है कि एमएसएमई और संस्कृति यूनिवर्सिटी के बीच हुए अनुबंध के तहत यहां के सेण्टर आफ एक्सीलेंस में और भी लेटेस्ट मशीनें आएंगी।

प्रति-कुलपति डा. अभय कुमार का कहना है कि संस्कृति यूनिवर्सिटी के सेण्टर आफ एक्सीलेंस में सीएनसी मशीन लग जाने से आईटीआई, डिप्लोमा इंजीनियरिंग तथा बी.टेक. के छात्र-छात्राओं को काफी फायदा होगा। इस मशीन के संचालन में दक्ष होने के बाद छात्र-छात्राओं को जाब हासिल करने में किसी प्रकार की कोई परेशानी नहीं होगी। आज के समय में टेक्निकल छात्र-छात्राओं के लिए सीएनसी मशीन के संचालन का ज्ञान बहुत जरूरी है। हर मशीन के अपने अलग-अलग फीचर्स और उन्हें कंट्रोल करने के अलग-अलग तरीके होते हैं। किसी मशीन में पिक्चर मूव करते हैं तो किसी मशीन में टूल मूव करता है। किसी-किसी मशीन में पिक्चर और टूल दोनों मूव करते हैं। सभी मशीनों की अपनी अलग-अलग खासियत है। मशीनों में बनाए जाने वाले कम्पोनेंट के हिसाब से इन मशीनों का उपयोग किया जाता है। Sanskriti University का प्रयास है कि यहां छात्र-छात्राओं को हर वह जानकारी दी जाए जिसकी औद्योगिक क्षेत्र में डिमांड है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »