CM योगी की पुलिस को नसीहत, एक चूक आपको खलनायक बना देती है

लखनऊ। गोरखपुर में कानपुर के प्रॉपर्टी डीलर की हत्या मामले में यूपी सरकार और पुलिस की जमकर फजीहत हुई। इस दौरान योगी सरकार को भी विपक्ष की खरी-खोटी सुननी पड़ी। ऐसे में योगी आदित्यनाथ का दर्द छलका है। उन्होंने पुलिसवालों को नसीहत दी है कि एक चूक आपको नायक से खलनायक बना देती है। उन्होंने कहा कि पुलिस सही समय पर सही जानकारी पुलिस और सोशल मीडिया पर दे दे तो खलनायक बनने से बच सकते हैं।
यूपी सीएम पुलिस महानिदेशक कार्यालय लखनऊ में उत्कृष्ट सेवा पुलिस पदक प्रदान करने पहुंचे थे। उन्होंने प्रदेश के 75 पुलिस अधिकारियों और कार्मिकों को उनके द्वारा दिए गए विशिष्ट योगदान व उत्कृष्ट सेवाओं के लिए अलंकृत किया। इस दौरान उन्होंने यूपी पुलिस के अधिकारियों को नसीहत दी और ईमानदारी से काम करने का पाठ पढ़ाया।
अच्छा करेंगे तो जनता हाथोंहाथ लेगी
योगी ने कहा कि अच्छा काम करने पर आपको बधाई मिलेगी, प्रशंसा मिलेगी। यूपी पुलिस के साथ यह खासकर है क्योंकि जनता के साथ जितना ज्यादा गहरा संवाद होगा उतनी ही गहराई से अच्छाई और बुराई देखने को मिलेगी। अगर आप अच्छा करेंगे, जनता इसे हाथोंहाथ लेगी। गलत करेंगे तो जनता आपको देखते ही देखते नायक से खलनायक बनाने में देर नहीं लगाती है।
लंबे समय तक आंखों में नहीं झोंक सकते धूल
जनता आपकी हर एक गतिविधि पर नजर रखती है। हो सकता है कुछ देर तक आप शासन और अधिकारियों की आंखों में धूल झोंक सकें, लेकिन लंबे समय तक ऐसा नहीं कर सकते हैं।
हर गतिविधि पर जनता रखती है नजर
जनता हमारी बॉडी लैंग्वेज पर, संवाद पर, हमारे व्यवहार पर हर किसी पर नजर रखती है। जनता के पास डिप्लोमा-डिग्री भले ही न हो लेकिन जब वह बोलता है तो सब उड़ेल देता है। उसे शब्दों की जरूरत नहीं होती, वह भाव से ही सब बयां कर देता है।
…और ऐसे शुरू हो जाता है मीडिया ट्रायल
लोग प्रताड़ित होते हैं तो सबसे पहले पुलिस के पास आते हैं। पुलिस का रेस्पॉन्स पॉजिटिव होता है तो वह अपनी पीड़ा बताते हैं। अगर पॉजिटिव रेस्पॉन्स नहीं होता तो उसकी पीड़ा बढ़ जाती है। यहां से शुरू होता है पुलिस और शासन के खिलाफ मीडिया ट्रायल। इसलिए जब हमारे पास कोई आए तो बेहतर संवाद करें। लोगों के मन से खौफ दूर करें।
चूक बना देती है खलनायक
आज कानून व्यवस्था बेहतर है लेकिन थोड़ी सी चूक हमें खलनायक बना देती है। अगर कोई चूक हुई है तो उससे बड़ा अधिकारी मौके पर जाकर मेरिट के आधार पर उसका निराकरण करे तो बात इतनी न बढ़े। मीडिया को क्लियर करें। मीडिया और सोशल मीडिया में सब क्लियर कर दें तो हम नायक से खलनायक बनने से बच सकते हैं। योगी ने कहा कि कुछ भी सोशल मीडिया पर चले तो अपना बचाव न करें। उस पर उपाय करें।
योगी ने कहा कि अगर समाज का हर नागरिक अपने-अपने क्षेत्र में पूरी ईमानदारी से कर्तव्यों का निर्वहन करने जुट जाए तो लक्ष्य प्राप्ति व संकल्पों को पूरा करने में देर नहीं लगेगी। उन्होंने कहा, ‘मुझे लगता है कि अमृत महोत्सव का यह वर्ष हम सभी को इस बात के लिए प्रेरित करता है।’
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *