सीएम योगी ने कहा: यह एनकाउंटर नहीं हत्‍या है, जरूरत पड़ी तो कराएंगे सीबीआई जांच

लखनऊ। ऐपल के एरिया मैनेजर विवेक तिवारी की गोली मारकर हत्या के मामले में अब सीएम योगी आदित्यनाथ का भी बयान सामने आया है। सीएम योगी ने कहा कि घटना है। यूपी सीएम ने इस मामले की जांच के आदेश दिए हैं। योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि जरूरत पड़ी तो मामले की सीबीआई जांच भी कराई जाएगी। शुक्रवार देर रात यूपी पुलिस के कॉन्स्टेबल ने गोमती नगर इलाके में विवेक को गोली मार दी थी। पुलिस ने दोनों आरोपी कॉन्स्टेबल को गिरफ्तार कर लिया है।
यूपी सीएम योगी ने इस मामले में सख्त कार्यवाही के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा, ‘घटना में पूरी जांच की जाएगी। जरूरत पड़ी तो सीबीआई जांच भी होगी और दोषियों के खिलाफ सख्त कार्यवाही की जाएगी।’ सीएम योगी आदित्यनाथ ने यह भी कहा कि यह घटना एनकाउंटर नहीं है। बता दें कि एक पुलिस कॉन्स्टेबल पर लखनऊ के वीआईपी इलाके गोमती नगर में गाड़ी न रोकने पर विवेक तिवारी की गोली मारकर हत्या करने का आरोप है। आरोपी का नाम प्रशांत चौधरी है जिसने पूछताछ में गोली मारने की बात कबूल ली है।
इलाज के दौरान हुई मौत
साथ ही आरोपी ने यह भी कहा कि उसने खुद के बचाव में गोली चलाई थी। बता दें कि ऐपल के एरिया सेल्स मैनेजर विवेक तिवारी शुक्रवार रात आईफोन की लॉन्चिंग से घर लौट रहे थे। इसी दौरान गोमतीनगर में यह घटना घटी। कॉन्स्टेबल प्रशांत चौधरी ने उन पर गोली चला दी। गोली विवेक के गले में लगी। गंभीर रूप से घायल विवेक को अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई।
योगी के आने पर होगा अंतिम संस्कार
मृतक की पत्नी और साले ने इस घटना पर सीएम योगी पर सवाल उठाए और कहा कि अंतिम संस्कार तभी किया जाएगा जब सीएम योगी आदित्यनाथ आएंगे।
पोस्टमॉर्टम में हत्या की पुष्टि होने के बाद एसएसपी लखनऊ ने मीडिया के सामने आकर पक्ष रखा और निष्पक्ष कार्यवाही का आश्वासन दिया।
डीजीपी ने कहा, सेल्फ डिफेंस में मारी गई गोली
एसएसपी ने बताया कि एसपी क्राइम की अध्यक्षता में मामले की एसआईटी जांच की जाएगी। इस बीच यूपी के डीजीपी ने कहा है कि दोनों कॉन्स्टेबल बर्खास्त किए जाएंगे। आरोपी कॉन्स्टेबलों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया है। इसके साथ ही डीजीपी ने कहा कि यह सेल्फ डिफेंस में की गई हत्या का मामला है।
धारा 302 के तहत मामला दर्ज
लखनऊ में प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान एसएसपी ने कहा कि मृतक विवेक तिवारी के ऑफिस की कलीग सना खान द्वारा दी गई तहरीर में उन्होंने पुलिस कॉन्स्टेबल द्वारा रोके जाने और गाड़ी न रोकने पर गोली मारने की बात कही है। मौके पर दो कॉन्स्टेबल थे, जिनमें से एक की गोली से विवेक की मौत हुई। दोनों को ही आरोपी मानते हुए आईपीसी की धारा 302 के तहत मामला दर्ज किया गया है। आरोपी प्रशांत और संदीप को गिरफ्तार कर लिया गया है और उनसे पूछताछ की जा रही है।
मामले में एकमात्र चश्‍मदीद गवाह सना खान ने इस खौफनाक वारदात की आपबीती सुनाई है। सना खान ने बताया कि आईफोन की लॉन्चिंग के बाद देर रात उन्‍हें छोड़ने के लिए विवेक तिवारी उनके घर जा रहे थे, इस बीच पुलिसवालों ने उन्‍हें रोकने की कोशिश की लेकिन जब वह नहीं रुके तो सीधे गोली मार दी।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »