Pickup भवन अग्निकांड पर भड़के CM योगी, जांच कमेटी को दिए सिर्फ 48 घंटे

लखनऊ। आज गुरुवार से Pickup भवन में स्‍थित कई विभागों का ऑडिट शुरू होने से पहले ही लगी आग के पीछे बड़े षडयंत्र का अंदेशा होने के कारण अग्निकांड पर CM योगी ने सख्‍त आदेश दिये हैं कि हर हाल में मामले की जांच के लिए गठित समिति 48 घंटों में अपनी रिपोर्ट दे। गौरतलब है कि Pickup भवन में कई सरकारी कार्यालय हैं, उसकी दूसरी मंजिल पर लगी आग से कई महत्वपूर्ण फाइलें और दस्तावेज नष्ट हो गए। इससे उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ काफी नाराज हो गए हैं।

बुधवार को हुए इस अग्निकांड पर गंभीर कदम उठाते हुए, घटना की जांच के लिए आदित्यनाथ ने तीन सदस्यीय कमेटी का गठन किया है।

अपर मुख्य सचिव (सूचना) अवनीश अवस्थी ने कहा कि एडीजी इंटेलिजेंस, यूपीएसआईडीसी के संयुक्त प्रबंध निदेशक और लखनऊ के मुख्य अग्निशमन अधिकारी समेत तीन सदस्यीय कमेटी का गठन किया गया है। कमेटी को अपनी रिपोर्ट 48 घंटों के अंदर जमा करानी है।

रिपोर्ट के अनुसार, आग इमारत के दूसरे तल पर लगी थी जो तीसरे तल तक फैल गई। आग पर काबू पाने के लिए करीब 18 दमकल गाड़ियां लगी थी। इसे बुझाने में कई घंटे लग गए। इस दौरान किसी के हताहत होने की जानकारी नहीं मिली है।

तीन मंजिलों के कई दफ्तरों के जरूरी दस्तावेज खाक

ऐसा संदेह है कि इमारत में रखीं महत्वपूर्ण फाइलों को नष्ट करने के लिए आग लगाई गई थी, क्योंकि गुरुवार से इमारत में स्थित कई विभागों का ऑडिट शुरू होने वाला था। इमारत के कुछ विभागों में राज्य औद्योगिक विकास निगम (यूपीएसआईडीसी), वन, एड्स नियंत्रण और यूपी लोक सेवा आयोग शामिल हैं, जो भ्रष्टाचार से संबंधित मामलों के लिए चर्चा में रहे हैं। गोमती नगर क्षेत्र में स्थित पीआईसीयूपी भवन पांच मंजिला इमारत है। इसका स्वामित्व राज्य प्रदेशीय औद्योगिक और निवेश निगम के पास है।

पिकप भवन के सुरक्षाकर्मियों ने बताया कि शाम सवा सात बजे ए-ब्लॉक के द्वितीय तल पर स्थित औद्योगिक विकास विभाग कार्यालय में अधिकारी एनके सिंह के चैंबर से धुआं उठता दिखा। इससे पहले कोई कुछ कर पाता, लपटें निकलने लगीं। कुछ ही देर में लपटों ने तीसरी मंजिल के यूपीएसआईडीसी व वन विभाग तथा चौथी मंजिल पर एड्स कंट्रोल विभाग के दफ्तर को अपनी चपेट में ले लिया।

वहीं, पुलिस का कहना है इन्हीं तीनों मंजिलों पर स्टेट बैंक ऑफ इंडिया, यूपीएसएससी, प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड, इनकम टैक्स ट्रिब्यूनल, पिकअप भवन के लीगल डिपार्टमेंट के दफ्तर भी हैं। आग से यहां कितना नुकसान हुआ है इसका पता दफ्तरों में फैले धुएं के कारण नहीं चल पाया है

हाइड्रोलिक प्लेटफॉर्म मंगाने में हुई देरी
भवन पर तैनात सुरक्षाकर्मियों की सूचना पर गोमतीनगर, इंदिरानगर व हजरतगंज फायर स्टेशन से कई वाहन मौके पर पहुंचे और आग बुझाने का काम शुरू किया। वहीं ऊंचाई तक पानी न पहुंच पाने पर हाइड्रोलिक प्लेटफॉर्म मंगाया गया। इसे मौके पर पहुंचने में करीब एक घंटे का समय लग गया और आग विकराल हो गई। हाइड्रोलिक प्लेटफॉर्म की मदद से रात करीब 10 बजे के आसपास आग पर काबू पाया गया। मौके पर पहुंचे चीफ फायर अफसर विजय कुमार सिंह ने बताया कि अग्निकांड में किसी व्यक्ति के जलने या झुलसने की सूचना नहीं है।

-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »