गणतंत्र दिवस पर सीएम योगी ने विपक्ष को करारा जवाब दिया

लखनऊ। गणतंत्र दिवस पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने लखनऊ में तिरंगा फहराया। इस मौके पर उन्होंने विधान भवन के सामने हुई परेड भी देखी। सीएस ने अपने भाषण में विपक्ष को करारा जवाब दिया।
उन्होंने बिना किसी का नाम लिए और योगी सरकार पर उठाए जा रहे सवालों का एक-एक करके इशारों में जवाब दिया। उन्होंने यूपी के युवा छात्रों के लिए फ्री कोचिंग का ऐलान भी किया, जो बसंत पंचमी से यूपी में शुरू होने जा रही है।
जानिए गणतंत्र दिवस पर सीएम योगी के भाषण की बड़ी बातें…..
पीएम मोदी के शासन पर सवाल उठाने वालों पर योगी ने कहा कि राष्ट्रीय अनुशासन कैसा होता है, यह पीएम मोदी ने दिखाया है। पूरी दुनिया उनके अनुशासन को देख रही है।
कोरोना काल में हेल्थ इंफ्रास्ट्रक्चर पर सवाल उठाने वालों को योगी ने जवाब दिया कि हेल्थ इंफ्रास्ट्रक्चर से कुछ नहीं होता। कोरोना की लड़ाई हेल्थ इंफ्रास्ट्रक्चर से नहीं जीती जा सकती थी। अगर ऐसा होता तो दुनिया के विकसित देशों का हेल्थ इंफ्रास्ट्रक्चर भारत से बहुत ज्यादा अच्छा है, लेकिन वहां महामारी नहीं रोक सके। भारत में रणनीति और अनुशासन से जान और जहान बचा।
भारत, दुनिया का एकलौता ऐसा देश है जहां दो स्वदेशी वैक्सीन विकसित हो चुकी हैं। दो चरणों में यह स्वास्थ्य कर्मियों को लग चुकी हैं। अब 15 फरवरी से कोरोना वॉरियर्स जैसे पुलिस, सेना के जवान और अन्य का वैक्सीनेशन शुरू हो जाएगा।
किसानों के प्रदर्शन को लेकर योगी ने इशारों में कहा कि पीएम ने किसानों के लिए बहुत कुछ किया है। किसानों के लिए तमाम योजनाएं चलाई गईं। लागत का डेढ़ गुना लाभ दिया गया। पीएम सम्मान निधी से हर किसान को छह हजार रुपये सालाना दिया जा रहा है। किसानों को नई दिशा दी है। प्रॉक्यूरमेंट की पॉलिसी दी। इस पॉलिसी के तहत किसानों के खातों में अब तक 60 हजार करोड़ रुपये ट्रांसफर हो चुके हैं। चीनी मिलें चलाई गईं।
चाहे महिला पुरुष के बीच लिंग के आधार पर होने वाला भेदभाव हो या जाति, मजहब, क्षेत्र और भाषा के आधार पर किसी भी प्रकार का भेदभाव हो, भारत के संविधान ने कभी भी इस प्रकार कि विकृति को कोई भी महत्व नहीं दिया है।
गणतंत्र दिवस हमें संविधान के प्रति समर्पित रहने की प्रेरणा देता है। राष्ट्र धर्म के प्रति समर्पण से ही देश महान बनता है। ‘नेशन फर्स्ट’ को ध्यान में रखते हुए हमें अपने कर्तव्यों का पालन पूरी ईमानदारी और निष्ठा से करना चाहिए।
अभ्युदय नाम से फ्री कोचिंग संस्था शुरू की जाएगी। बसंत पंचमी से इसकी शुरुआत होगी। नीट और आईआईटी के समेत यूपीएससी और अन्य राष्ट्रीय स्तर की परीक्षाओं के लिए इस कोचिंग में तैयारी कराई जाएगी। प्रशासनिक अधिकारी भी इन कोचिंगों में क्लासेस लेंगे और अपे अनुभव देंगे।
राष्ट्र धर्म सर्वोपरी होना चाहिए। समर्पित भाव से काम करना चाहिए।
5 फरवरी को चौरी चौरा कांड के सौ वर्ष पूरे हो जाएंगे। इस ऐतिहासिक घटना को और यादगार बनाने के लिए पूरे वर्ष विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन किया जाएगा। पीएम मोदी इस कार्यक्रम में शामिल होने गोरखपुर आएंगे।
यूपी में युवाओं को नौकरी दी गई। महिला सुरक्षा के लिए मिशन शक्ति शुरू हुआ।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *