धर्मसभा के समापन पर लिया संकल्प, राम मंदिर निर्माण तक जारी रहेगा आंदोलन

अयोध्‍या। अयोध्‍या में धर्मसभा का समापन हो गया है । इस अवसर पर मौजूद एक लाख से ज्‍यादा रामभक्‍तों के सामने धर्माचार्यों ने कहा कि राम मंदिर निर्माण तक आंदोलन जारी रखा जाएगा। इस बीच धर्मसभा की अध्यक्षता कर रहे स्वामी परमानंद ने कहा कि वह राम मंदिर बनने के भी साक्षी रहेंगे। उन्होंने उम्मीद है कि सरकार किसी को निराश नहीं करेगी और राम मंदिर बनने के भी हम साक्षी रहेंगे।

अभी अभी एडीजी एलओ आनंद कुमार का बयान आया है वीएचपी के कार्यक्रम में 70-80 हज़ार की भीड़ है, सुप्रीमकोर्ट की निर्देशों का पालन किया जा रहा है, आईबी के नॉन स्पेसिफिक इनपुट के मुताबिक इंतज़ाम कर लिया है।

अयोध्या में धर्मसभा के लिए रामभक्तों का हुजूम उमड़ पड़ा है। धर्मसभा के लिए एक लाख से भी ज्यादा लोग अयोध्या पहुंच चुके हैं और अब भी आना जारी है। रामभक्तों ने सुबह से ही अयोध्या पहुंचना शुरू कर दिया। प्रशासन ने सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए हैं मगर राम भक्तों का रेला उमड़ा तो पूरी अयोध्या उनके कब्जे में आ गई।

मुख्‍य बिंदु

1. अयोध्या में आयोजित धर्मसभा का समापन हो गया है। धर्मसभा में संकल्प लिया गया कि करोड़ों हिंदुओं की आस्था के लिए मंदिर निर्माण के लिए आंदोलन जारी रहेगा।

2. अयोध्या में हो रही धर्मसभा पर स्वामी रामभद्राचार्य ने बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा कि राममंदिर को लेकर सरकार 11 दिसंबर के बाद एलान करेगी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मध्य प्रदेश में राम मंदिर पर दिए गए बयान के बाद इसके निहितार्थ तलाशे जा रहे हैं। गौरतलब है कि मध्य प्रदेश में चुनाव प्रचार के दौरान मोदी ने कांग्रेस पर मंदिर निर्माण में अड़चन डालने का आरोप लगाया। वहीं, विहिप नेता चंपत राय ने कहा कि इस धर्मसभा के बाद राममंदिर मुद्दे पर अब कोई सभा नहीं होगी, सीधे मंदिर निर्माण होगा।

3. अयोध्या में हो रही धर्मसभा पर एडीजी लॉ एंड ऑर्डर आनंद कुमार ने कहा कि इस समय धर्मसभा में करीब 75 हजार लोग मौजूद हैं। नगर में किसी भी तरह की अप्रिय घटना की खबर नहीं है। उन्होंने बताया कि सुबह से अब तक लगभग 27000 लोगों ने रामलला के दर्शन किए।

4. अयोध्या की धर्मसभा में विश्व हिंदू परिषद के नेता चंपत राय ने बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा कि राम मंदिर के लिए हमें भूमि का बंटवारा मंजूर नहीं। सुन्नी वक्फ बोर्ड को अपना केस वापस लेना चाहिए। हमें पूरी की पूरी जमीन चाहिए।

5. धर्मसभा के लिए अयोध्या पहुंचे रामभक्तों का मुस्लिम समुदाय ने किया स्वागत किया है। मुस्लिम मंच से जुड़े लोगों ने धर्मसभा मार्ग पर रामभक्तों पर फूल बरसाए। राममंदिर समर्थक बबलू खान रामभक्तों का स्वागत कर रहे हैं।

6. धर्मसभा में किन्नर भी पहुंचे। सरकार से जल्द मंदिर बनाए जाने की मांग कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि अब इस पर और इंतजार नहीं कर सकते।

7. अयोध्या में बढ़ रही भीड़ पर बाबरी मामले के पक्षकार इकबाल अंसारी ने सुरक्षा व्यवस्था पर संतुष्टि जताई और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का शुक्रिया अदा किया। उन्होंने कहा कि अगर 1992 में इस तरह की सुरक्षा होती तो बाबरी का विध्वंस न होता।

8. अयोध्या में रामलला का दर्शन करने के बाद पत्रकारों से बातचीत में उद्घव ठाकरे ने कहा कि राममंदिर को लेकर हिंदुओं की भावनाओं से खिलवाड़ नहीं होना चाहिए। अब हिंदू ताकतवर हो गया है और अब मार नहीं खाएगा। उन्होंने कहा कि अगर मंदिर न बना तो 2019 में सरकार नहीं बनेगी। इस मुद्दे पर अगर सरकार अध्यादेश लाएगी तो शिवसेना उसका पूरा समर्थन करेगी। वहीं, उत्तर भारतीयों पर महाराष्ट्र में हो रहे हमले पर ठाकरे ने ऐसी बातों से इनकार किया है। ठाकरे ने ये भी कहा कि सरकार बने या न बने राम मंदिर जरूर बनेगा।

7. अयोध्या में मौजूद विश्व हिंदू परिषद व अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ता शिवसेना की तर्ज पर पहले मंदिर फिर सरकार, हर हिंदू की यही पुकार के नारे लगा रहे हैं।

धर्मसभा के लिए उमड़ी भीड़ और सुरक्षा प्रबंध पर डीआईजी अयोध्या ओमकार सिंह ने कहा कि धर्मसभा के लिए सभी पुख्ता इंतजाम कर लिए गए हैं। हमने पार्किंग के लिए पर्याप्त स्थान मुहैया करवा दिया है। लोग आसानी से आ जा रहे हैं। रामलला के दर्शन के लिए भी मार्ग तय कर दिया गया है। हर हालात से निपटने के लिए प्रबंध कर लिया गया है।

अयोध्या में सुबह से ही रामभक्तों का रेला हाइवे के रास्ते नगर में घुसने लगा। एसपी सिटी अनिल सिसोदिया और एडीएम सिटी विंध्यवासिनी राय हाईवे पर राम भक्तों को रोकने की असफल कोशिश कर रहे थे। उनके साथ आरएएफ थी लेकिन राम भक्त अपने ही रौ में सीधे रामलला का दर्शन करने की मांग पर अड़े रहे।

बूथ नंबर 4 से जालौन, कानपुर, झांसी, आगरा व इटावा के रामभक्तों की भीड़ अयोध्या में दाखिल होने लगी। नया घाट से बस्ती, गोंडा, गोरखपुर, देवरिया, कौशांबी, श्रावस्ती व बहराइच जिलों की भीड़ नगर में सुबह 7:00 बजे से ही छा गई।

8:00 बजे अयोध्या के भीतर करीब 25,000 राम भक्त गलियों और सड़कों पर नाचते-गाते, नारे लगाते दिख रहे थे। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद की ओर से बाबर के खिलाफ नारे बोले जाते रहे। जबकि महिलाएं जय श्री राम का नारा लगा रहे थीं। बुजुर्गों की टोली भी उनके सुर में सुर मिला रही थी।

पुलिस ने जहां भी रामभक्तों को रोकने की कोशिश की। वहां रामभक्त हर हाल में रामलला के दर्शन की मांग कर आगे बढ़ते जाते। हाल ये रहा कि सुबह 8:30 बजे तक ही रामलला दर्शन मार्ग पर एक किलोमीटर लंबी कतार लग गई थी।

-Special coverage : Legend News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »