जामिया यूनिवर्सिटी में छात्र गुटों के बीच झड़प, माहौल तनावपूर्ण

नई दिल्‍ली। जामिया मिलिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी में छात्र गुटों के बीच झड़प होने से माहौल तनावपूर्ण हो गया। यूनिवर्सिटी के एक कार्यक्रम में इजरायल को पार्टनर बनाए जाने के विरोध स्‍वरूप कुछ छात्र पिछले नौ दिनों से हड़ताल पर बैठे हैं। वे मामले में अनुशासनहीनता के लिए यूनिवर्सिटी प्रशासन से पांच छात्रों को कारण बताओ नोटिस भेजे जाने से नाराज हैं।
प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक हड़ताली छात्र परिसर में मार्च निकाल रहे थे। इसी दौरान जब वे लोग पदयात्रा करते हुए कुलपति दफ्तर के पास पहुंचे तो उन पर कुछ लोगों ने हमला कर दिया। इससे कई छात्रों को गंभीर चोटें आईं। घायलों को होली फैमिली अस्पताल में भर्ती कराया गया।
कुछ छात्रों ने शिकायत दर्ज कराई है। छात्रों का आरोप है कि यूनिवर्सिटी प्रशासन के कहने पर मंगलवार को कुछ लोगों ने उन पर हमला किया था। 5 छात्रों को यूनिवर्सिटी की ओर से नोटिस जारी किए जाने के विरोध में वे यह प्रदर्शन कर रहे थे। घटना से माहौल में पैदा हुए तनाव को देखते हुए पुलिस बल ने परिसर को अपने कंट्रोल में ले लिया।
हमले को लेकर प्रदर्शनकारी छात्रों और जामिया प्रशासन के अपने-अपने तर्क हैं। यूनिवर्सिटी प्रशासन के मुताबिक कुछ छात्र संगठनों ने मार्च करते हुए वीसी ऑफिस का घेराव किया। उन्होंने सभी रास्तों को ब्लॉक कर दिया। इसके बाद कुछ टीचर्स प्रदर्शन में शामिल छात्रों से मिलने गए। उनसे घेराबंदी न करने का अनुरोध किया। साथ ही छात्रों के ज्ञापन पर चर्चा करने और अपने प्रतिनिधियों को बात करने के लिए भेजे जाने का अनुरोध किया।
प्रशासन ने छात्र गुटों में भिड़ंत बताई
प्रशासन के मुताबिक इसके बाद भी छात्र हटने को राजी नहीं हुए। आरोप लगाया कि इन छात्रों ने मीर तकी मीर बिल्डिंग में इंग्लिश विभाग की तरफ से आयोजित एक कार्यक्रम में शामिल हुए मेहमानों को भी बाहर निकलने से रोका। इसके बाद संबंधित विभाग के कुछ छात्रों ने मेहमानों को निकालने की कोशिश की। लेकिन प्रदर्शनकारी छात्र रास्ता रोक कर खड़े रहे जिसके बाद छात्र गुटों के बीच हाथापाई शुरू हो गई।
छात्र बोले, यूनिवर्सिटी प्रशासन के कहने पर हुआ हमला
दूसरी तरफ प्रदर्शनकारी छात्रों का आरोप है कि प्रशासन के कहने पर हड़ताली छात्रों पर ये हमला किया गया। उन्होंने इसमें करीब 10 छात्रों को चोटें आने का दावा किया है, जिनमें से तीन अस्पताल में भर्ती किए गए। मालूम हो कि पांच छात्रों को अनुशासनहीनता के लिए कारण बताओ नोटिस दिया गया था, जिसका कुछ छात्र पिछले नौ दिन से विरोध कर रहे हैं। ये लोग आर्किटेक्चर फैकल्टी की ओर से रखे गए प्रोग्राम ‘ग्लोबल हेल्थ जेनिथ : कॉन्फ्लूएस 19’ के दौरान इस इवेंट में इजरायल को पार्टनर रखने का विरोध कर रहे हैं। डीसीपी (साउथ ईस्ट) चिन्मय बिश्वाल ने बताया कि हमने ऐहतियातन पुलिस को तैनात कर दिया और पूरे मामले पर नजर बनाए हुए हैं।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »