सिविल सोसायटी आगरा ने Air Cargo के लिये शुरू किया अभियान

सिविल सोसायटी आगरा ने Air Cargo के अलावा सिविल एयर एन्‍कलेव की भावी योजनाओं का मांगा विवरण

आगरा। सिविल सोसायटी आगरा ने आगरा सिविल एन्‍कलेव से संबधित विस्‍तार एवं सेवाओं के उच्‍चीकरण किये जाने की योजनाओं की जानकारी आरटीआई द्वारा मांगी है।

सोसायटी के जनरल सैकेट्री अनिल शर्मा के अनुसार प्रत्‍येक एयरपोर्ट के विस्‍तार एवं विकास की कार्ययोजना होती है, आगरा के प्रस्‍तावित सिविल एन्‍कलेव के लिये भी कोई योजना है। सोसायटी की ओर से यह एयरपोर्ट अथारिटी से यह जानकारी भी पूछी है कि सिविल एन्‍कलेव के लिये जो प्रचारित योजना है उसमें से 4 हेक्‍टेयर जमीन प्रशासन के द्वारा उपलब्‍ध नहीं करवायी जा रही है। इस जमीन की कमी का मूल योजना के क्रियान्‍वयन पर क्‍या प्रभाव पडेगा। प्रस्‍तावित जमीन में से 4हेक्‍टेयर जमीन की उपलब्‍धता के न होने से क्‍या भविष्‍य की विस्‍तारयोजना प्रभावित नहीं होंगी।

उपरोक्‍त संशय को स्‍पष्‍ट करने के साथ ही सिविल सोसायटी ने यह भी जानना चाहा है कि सिविल एन्‍कलेव के प्रोजेक्‍ट में एयरकार्गो का बनाया जाना शामिल है या नहीं ।

एयरपोर्ट अथार्टी के ‘विजन और मिशन’ का हवाला देते हुए एयरपोर्ट अथॉरिटी को याद दिलाया कि आगरा एयरपोर्ट का विकास ठीक तरह से होना चाहिए। अभियान की अवधारणा के तहत सोसायटी की ओर से एयरर्पोट अथारिटी को दी गयी जानकारी में बताया गया है कि आगरा जूता , दस्‍तकारी और इंजीनियरिंग व अन्‍य सहयोगी उद्यमों का प्रमुख उत्‍पादन स्‍थान है। यहां उत्‍पादित होने वाले इन उत्‍पादों का एक बडा भाग एयरकार्गो के माध्‍यम से ही दूसरे स्‍थानों पर भेजा जाता या निर्यात होता है। यहां के उपरोक्‍त उद्यम आगरा के लिये ही नहीं समूचे बृज क्षेत्र के कारोबार का मुख्‍याधार है। यही नहीं भारत और अंतर्राष्‍ट्रीय बाजार में इनकी अलग पहचान है।

हालांकि सिविल सोसायटी ने आर टी आई को माध्‍यम बनाया है किन्‍तु मूल रूप से यही समझाने का प्रयास किया है कि एयरपोर्ट को आप्रेशनल रखने के लिये उसका एयर कार्गो डिवीजन महत्‍वपूर्ण योगदान कर्त्‍ता होता है। स्‍वयं एयरपोर्ट अथारिटी का आंकलन है कि कार्गो एयरकार्गो सिविल एवियेशन के सकल कारोबार का 35 प्रतिशत भाग संभव बनाता है।

सोसायटी की ओर से अथारिटी से आग्रह किया गया है कि अगर किसी भी कारण से एयरकार्गो का सिविल एन्‍कलेव प्रोजेक्‍ट में शामिल किया जाना रह गया हो तो इसे शामिल करवाया जाये।

सोसायटी ने सिविल एवियेशन के प्रस्‍तावित विस्‍तार और भविष्‍य की जरूरतों को पूरी करने के लिये योजना की जानकारी को भी जानना चाहा है जिससे कि यह स्‍पष्‍ट हो सके कि एवीयेशन क्षेत्र भविष्‍य की जरूरतों को आगरा में किस प्रकार से पूरा कर सकेगा ।

श्री शर्मा ने एयरपोर्ट अथार्टी से जहां उपरोक्‍त जानकारियां आर टी आई एक्‍ट के तहत पूछी हैं वहीं प्रधानमंत्री, नागरिक उड्डयन मंत्री तथा उप्र के मुख्‍यमंत्री को पत्र लिख कर उपरोक्‍त के संबध में जरूरी कार्रवाही करने को कहा है।

जरुरत पड़ी तो सिविल सोसाइटी ऑफ़ आगरा कोर्ट को भी अपनी PIL के द्वारा  Air Cargo संबंंधी प्रश्‍नों से अवगत करायेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »