Christian Mitchell को सीबीआई कोर्ट ने 5 दिन की रिमांड पर भेजा

जांच में सहयोग नहीं कर रहा Christian Mitchell: सीबीआई

नई दिल्‍ली। अगस्तावेस्टलैंड वीवीआईपी हेलीकॉप्टर (AgustaWestland VVIP helicopter Scam) सौदे में कथित बिचौलिए Christian Mitchell को स्पेशल सीबीआई कोर्ट ने पांच दिन की रिमांड पर भेज दिया है। 3,600 करोड़ रुपये के अगस्तावेस्टलैंड हेलीकॉप्टर घोटाले की जांच कर रही केन्द्रीय जांच एजेंसी सीबीआई (CBI) ने ब्रिटिश नागरिक से पूछताछ के लिए नौ दिन की रिमांड मांगी थी और कोर्ट को बताया कि वह जांच में सहयोग नहीं कर रहा है।

एक अधिकारी ने कोर्ट से बताया- वह पूछताछ के दौरान सवालों का जवाब नहीं दे रहा है। स्पेशल सीबीआई कोर्ट ने ब्रिटिश उच्चायोग को Christian Mitchell तक पहुंचने की इजाजत दे दी। जज ने कहा- “हमने उसकी याचिका पर उसे अपने वकील रखने की इजाजत दे दी है।”

क्रिश्चियन मिशेल का नाम उन तीन कथित बिचौलियों में शामिल है जिन्होंने राजनेताओं और नौकरशाहों तक घूस पहुंचाने में भूमिका निभाई ताकि इस डील को हासिल किया जा सके।

VVIP हेलिकॉप्टर डील में ‘फैमिली’ से पर्याप्त मदद नहीं मिलने पर नाराज था मिशेल। क्रिश्चियन मिशेल और गुइदो राल्फ हश्के के बीच हुई बातचीत की जानकारी स्विट्जरलैंड ने भारत को दी थी। सीबीआई इसकी जांच कर सकती है। कथित बिचौलिए मिशेल ने ‘फैमिली’ को मासिक भुगतान करने की पुष्टि भी की थी।

मिशेल ने गुइदो राल्फ हश्के को ‘फैमिली’ की ओर से ‘पर्याप्त मदद नहीं मिलने’ को लेकर विरोध जताते हुए कहा था, ‘खेल अभी खत्म नहीं हुआ है। कुछ चीजों को आगे बढ़ाने की जरूरत है।’

कॉन्ट्रैक्ट निगोसिएशन कमेटी (CNC) के 4 फरवरी 2009 को लगभग 55.2 करोड़ यूरो का प्रपोजल देने के बाद मिशेल ने हश्के को 11 अगस्त

2009 को कथित तौर पर एक ‘समस्या’ के बारे में लिखा था। मिशेल और हश्के के बीच इस कम्युनिकेशन की जानकारी भारत को स्विट्जरलैंड ने दी थी। CBI इसकी जांच कर सकती है।

मिशेल ने हश्के को बताया था कि तत्कालीन फाइनैंस सेक्रेटरी की ओर से ‘कड़ी प्रतिक्रिया’ मिली थी, जिन्होंने रूसी कंपनी को गलत तरीके से बाहर करने पर आपत्ति जताई थी। रूस की कंपनी को आवश्यक गारंटी उपलब्ध कराने में नाकाम रहने और एक समझौते पर हस्ताक्षर न करने की वजह से बाहर होना पड़ा था। -एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »