मुझे चीनी वायरस ने संक्रमित किया, चीन को इसका खामियाजा भुगतना होगा: ट्रंप

वाशिंगटन। कोरोना वायरस संक्रमण की वजह से चार दिनों तक अस्पताल में भर्ती रहने के बाद अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप अब काम पर वापस लौट आए हैं.
अस्पताल से लौटने के बाद उन्होंने एक वीडियो संदेश जारी कर अपने स्वास्थ्य के बारे में जानकारी दी. वीडियो में राष्ट्रपति ट्रंप बिना मास्क के नज़र आए.
तकरीबन पाँच मिनट के इस वीडियो में उन्होंने कहा, ”मेरा मानना है कि मुझे कोरोना संक्रमण होना ईश्वर का आशीर्वाद था…एक छिपा हुआ आशीर्वाद. अब मैं बिल्कुल ठीक हूँ. मैं चाहता हूँ कि हर अमरीकी नागरिक को उसी तरह का इलाज मिले, जैसा एक राष्ट्रपति के तौर पर मेरा हुआ.”
राष्ट्रपति ट्रंप इस वीडियो में चीन पर हमला बोलने से नहीं चूके.
उन्होंने कहा, ”मुझे चीनी वायरस का संक्रमण हुआ, इसमें आपकी ग़लती नहीं है. ये चीन की ग़लती है और चीन को इसका ख़ामियाजा भुगतना होगा. चीन ने इस देश के साथ जो किया है, उसे इसकी क़ीमत चुकानी होगी.”
ट्रंप के डॉक्टर ने क्या कहा?
ट्रंप के डॉक्टर ने कहा है कि उनमें 24 घंटे से भी ज़्यादा समय से कोविड का कोई लक्षण नहीं है और चार दिन से ज़्यादा वक़्त से उन्हें बुखार भी नहीं आया है.
डॉक्टर सीन कॉनले ने कहा कि राष्ट्रपति को शुक्रवार को अस्पताल जाने के बाद से अतिरिक्त ऑक्सीजन की ज़रूरत भी नहीं पड़ी है. उन्हें सोमवार को अस्पताल से छुट्टी मिल गई थी.
इससे पहले ट्रंप ने कहा था कि ‘वो बहुत अच्छा महसूस कर रहे हैं’. व्‍हाइट हाउस के मुताबिक़ वो काम के लिए ओवल ऑफिस आने लगे हैं.
ट्रंप के स्वास्थ्य से जुड़ी ये ख़बर कमला हैरिस और माइक पेंस के बीच अहम वाइस प्रेसिडेंशियल डिबेट के ठीक पहले आई.
डोनाल्ड ट्रंप और उनके डेमोक्रेटिक प्रतिद्वंद्वी जो बाइडन के बीच 29 सितंबर को हुई पहली प्रेसिडेंशियल टीवी डिबेट ख़ूब चर्चा में रही थी.
इस डिबेट में नीतियों पर कम बात हुई लेकिन एक दूसरे को बीच-बीच में रोकने-टोकने और एक-दूसरे का माखौल उड़ाने का काम ज़्यादा हुआ. अमरीका में तीन नंवबर को राष्ट्रपति चुनाव होना है.
ट्रंप की ताज़ा हेल्थ रिपोर्ट में क्या है?
डॉक्टर कॉनले की रिपोर्ट के मुताबिक़, “ट्रंप की शारीरिक जांच सामान्य रही और ऑक्सीजन सेचुरेशन और रेस्पिरेटरी रेट स्थिर है.”
रिपोर्ट में ये भी कहा गया है, “5 अक्टूबर को उनके शरीर में सार्स-कोव-2-आईजीजी एंटीबॉडी मिली.”
डॉक्टर ने कहा कि “हम उनकी सेहत पर क़रीबी नज़र बनाए हुए हैं, कुछ और पता चलने पर मैं आपको जानकारी दूंगा.”
राष्ट्रपति ट्रंप के अस्पताल से लौटने और उनके एक और सहयोगी को कोविड-19 होने की ख़बर आने के बाद व्हाइट हाउस में नए सुरक्षा उपाय अपनाए जा रहे हैं.
राष्ट्रपति ट्रंप बुधवार दोपहर ओवल ऑफिस पहुंचे, जहां उन्हें अधिकारियों के मुताबिक़ मेक्सिको की खाड़ी में डेल्टा तूफान और अर्थव्यवस्था के लिए प्रोत्साहन पैकेज पर डेमोक्रेट्स के साथ ताज़ा बातचीत की जानकारी दी गई.
अस्पताल से लौटने के बाद ट्रंप घर से काम करने के बजाए ओवल ऑफिस जा रहे हैं. साथ ही देश के नाम संबोधन और चुनाव अभियान फिर से शुरू करने पर ज़ोर दे रहे हैं.
हालांकि उनके ज़्यादातर सहयोगी और स्टाफ के सदस्य सेल्फ-आइसोलेशन में हैं.
इससे पहले दिन में चीफ ऑफ स्टाफ मार्क मीडोज़ ने कहा था कि ट्रंप से मिलने वाला हर व्यक्ति “फुल पीपीई, मास्क, चश्मा लगाएगा.”
सोमवार को नियम तय किए गए कि वेस्ट विंग की पहली मंज़िल पर सीमित लोग जाएंगे, सुरक्षा उपकरणों का सख़्ती से ध्यान रखा जाएगा और हर किसी के पास सैनिटाइज़र होगा और राष्ट्रपति से दो मीटर की दूरी बनानी होगी.
ख़बरों के मुताबिक़ व्हाइट हाउस में अब ज़्यादा लोग मास्क पहने दिख रहे हैं. ट्रंप को संक्रमण होने से पहले मास्क को लेकर ढीला रवैया अपनाने के चलते वाइट हाउस की विरोधियों ने आलोचना की थी.
हालांकि राष्ट्रपति ट्रंप से मिलने वाले और पॉज़िटिव आने वाले कई लोगों की जानकारी सामने आ चुकी है, लेकिन अब भी ये स्पष्ट नहीं है कि व्हाइट हाउस में कुल कितने लोग वायरस की चपेट में आए.
व्‍हाइट हाउस के कम से कम नौ कर्मचारियों का टेस्ट पॉज़िटिव आया है, लेकिन ये क्लस्टर कहीं ज़्यादा बड़ा हो सकता है.
स्टाफ के कुछ सदस्यों ने अमरीकी मीडिया के सामने चिंता ज़ाहिर की है कि उनकी जानकारी के बिना उन्हें उन लोगों के संपर्क में लाया गया जो संक्रमित थे या कोविड-पॉज़िटिव होने के रिस्क पर थे.
प्रमुख डेमोक्रेट नेता नैन्सी पलोसी ने कहा कि “वाइट हाउस देश की सबसे ख़तरनाक जगहों में से एक है” और “वो इसके आस-पास भी नहीं जाएंगी.”
-BBC

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *