चायनीज हैकर्स ग्रुप ने Technimont SpA के एकाउंट से 130 करोड़ रुपये उड़ाए

हैकर्स ने इटली के Technimont SpA की भारतीय यूनिट टेक्निमोंट प्राइवेट लिमिटेड को एक ई-मेल अकाउंट से मेल भेजी थी

नई दिल्‍ली। चीन के हैकर्स के एक ग्रुप ने इटली की कंपनी Technimont SpA की भारतीय यूनिट से 1.86 करोड़ डॉलर यानि करीब 130 करोड़ रुपये उड़ा लिए हैं। ऐसे में यह भारत में अबतक का सबसे बड़ा हमला है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक इन हैकर्स ने कंपनी के स्थानीय मैनेजर्स को नई कंपनी खरीदने के लिए राजी कर लिया और इसके लिए फंड भी ले लिया। इसके बाद हैकर्स ने इटली के Technimont SpA की भारतीय यूनिट टेक्निमोंट प्राइवेट लिमिटेड को एक ई-मेल अकाउंट से मेल भेजी और इस मेल के साथ ही खेल शुरू हो गया।

दरअसल जिस अकाउंट से हैकर्स ने मेल किया वह ग्रुप के सीईओ पिएरोबर्टो फोलगिएरो के ईमेल अकाउंट के जैसा लग रहा था। इसके बाद हैकर्स बाद चीन में नई कंपनी की अधिग्रहण की निजी जानकारी के लिए एक कॉन्फ्रेंस कॉल की जिसमें ग्रुप के सीईओ, स्विट्जरलैंड के टॉप लॉयर और कंपनी के अन्य सीनियर एग्जिक्यूटिव्स समेत कई लोग शामिल हुए।

इसके बाद हैकर्स ने कंपनी के भारत में स्थिति टेक्निमोंट SpA में हेड को राजी कर लिया कि रेगुलेटरी समस्या के कारण इटली से अधिग्रहण के पैसे ट्रांसफर नहीं किए जा सकते। इसके बाद कंपनी के भारतीय हेड ने एक सप्ताह के अंदर तीन बार में 56 लाख डॉलर, 94 लाख डॉलर और 36 लाख डॉलर टांसफकर किए।

ये पैसे भारत से हांगकांग के कई बैंकों में भेजे गए। गौर करने वाली बात है कि पैसे बहुत जल्दी ही अकाउंट से निकाल लिए गए। इसके बाद हैकर्स ने और पैसों की मांग तो पोल खोल गई। जिस समय यह पोल खुली उस दौरान टेक्निमोंट SpA के चेयरमैन फ्रैंको गिरिनगेली भारत के दौरे पर थे।

बता दें कि टेक्निमोंट SpA इटली के बड़े बिजनेस ग्रुप मेर टेक्निमोंट का हिस्सा है और यह कंपनी केमिक्लस, इंजीनियरिंग और एनर्जी जैसे क्षेत्र में कारोबार करती है, हालांकि कंपनी ने इस धोखाधड़ी को सायबर क्राइम मानने से इनकार कर दिया है। ठगी के बाद कंपनी ने भारतीय यूनिट के चीफ, अकाउंट्स और फाइनेंस हेड को निकाल दिया है। फिलहाल मुंबई की साइबर पुलिस इस मामले की जांच कर रही है।

-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »