चीन की दोहरी चाल: गीदड़ भभकी और शांति का पाठ एकसाथ

पेइचिंग। लद्दाख में 20 भारतीय सैनिकों की निर्मम हत्‍या के बाद अब चीन एक ओर जहां शांति का पाठ पढ़ रहा है वहीं दूसरी ओर उसने हाइड्रोजन बम का डर दिखाना भी शुरू कर दिया है।
दुनिया में शांति का ढोंग रचने वाले चीन ने अपने सरकारी समाचार पत्र ग्‍लोबल टाइम्‍स में हाइड्रोजन बम के परीक्षण का वीडियो पोस्‍ट किया है। वर्ष 1967 में किए गए इस परीक्षण पर चीनी अखबार ने दावा किया कि ये हाइड्रोजन बम आत्‍मरक्षा के लिए है और उनका देश परमाणु हथियारों के पहले इस्‍तेमाल नहीं करने के स‍िद्धांत पर कायम है।
ग्‍लोबल टाइम्‍स ने लिखा, ‘आज ही के दिन वर्ष 1967 में चीन ने अपने पहले हाइड्रोजन बम का सफलतापूर्वक परीक्षण किया था। चीन निष्‍ठापूर्वक आत्‍मरक्षा की परमाणु रणनीति पर काम करता है और परमाण हथियारों के पहले इस्‍तेमाल नहीं करने की नीति पर कायम है।’ चीन के सरकारी अखबार ने हाइड्रोजन बम के परीक्षण का वीडियो ऐसे समय पर पोस्‍ट किया है, जब भारत और अमेरिका के साथ उसका तनाव चरम पर है।
परमाणु हथियारों का सार्वजनिक प्रदर्शन कर रहा चीन
माना जा रहा है कि चीन ने एक तरीके से भारत और अमेरिका को खुलेआम धमकी दी है। परमाणु हथियारों पर नजर रखने वाली अंतर्राष्‍ट्रीय संस्‍था सिप्री की ताजा रिपोर्ट में कहा गया है कि चीन अब अपने परमाणु हथियारों का सार्वजनिक तौर पर और ज्‍यादा प्रदर्शन कर रहा है। हालांकि चीन अपने परमाणु हथियारों के विकास के बारे में बहुत कम जानकारी साझा करता है। चीन बहुत तेजी से अपने परमाणु हथियारों के जखीरे को आधुनिक बना रहा है और संख्‍या बढ़ा रहा है।
चीन पहली अपनी न्‍यूक्लियर ट्रायड की क्षमता को बढ़ा रहा है ताकि जमीन, हवा और समुद्र से परमाणु हथियारों को दागा जा सके। चीन ने नई जमीन और समुद्र से दागी जाने वाली मिसाइलें बनाई हैं और परमाणु हथियार ले जाने वाला एयरक्राफ्ट बनाया है। दुनिया में सुपर पावर बनने की महत्‍वाकांक्षा रखने वाला चीनी ड्रैगन अब बहुत तेजी से अपने परमाणु हथियारों का जखीरा बढ़ा रहा है।
चीन के पास हैं 320 परमाणु हथियार
रिपोर्ट में कहा गया है कि भारत और चीन दोनों ने ही पिछले साल अपने परमाणु हथियारों के जखीरे में इजाफा किया है। हालांकि भारत के परमाणु हथियार चीन के आधे से भी कम हैं। सिप्री की रिपोर्ट के मुताबिक भारत के पास 150 और चीन के पास 320 परमाणु हथियार हैं। चीन ने पिछले एक साल में 30 परमाणु हथियार बढ़ाए हैं, वहीं भारत ने 10 एटम बम। उधर, पाकिस्‍तान अभी भी परमाणु हथियारों के मामले में भारत से थोड़ा आगे है। पाकिस्‍तान के पास कुल 160 परमाणु हथियार हैं। भारत के मुकाबले भले ही पाकिस्‍तान के परमाणु हथियार ज्‍यादा हों लेकिन भारतीय अधिकारी अभी भी अपनी परमाणु प्रतिरोधक क्षमता को लेकर आश्‍वस्‍त हैं।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *