चीन की वायु सेना ने कोरियाई प्रायद्वीप पर अचानक शुरू किया युद्ध अभ्‍यास

बीजिंग। चीन की वायु सेना ने कोरियाई प्रायद्वीप के पास औचक अभ्यास शुरू कर दिया है।
यह अभ्‍यास समुद्र की ओर से होने वाले किसी भी हमले को रोकने के मकसद से किया गया है। चीन के सरकारी मीडिया ने यह जानकारी दी है।
गौरतलब है कि रविवार को उत्तर कोरिया ने हाइड्रोजन बम का परीक्षण किया था जिसे लेकर अमेरिका, संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद और विश्व के अनेक देशों ने कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त की थी।
चीन और उत्तर कोरिया में काफी नजदीकी है और उत्तर कोरिया अपने पड़ोसी देश दक्षिण कोरिया के खिलाफ काफी लंबे समय से आक्रामक रुख अपनाए हुए है।
उत्तर कोरिया के परीक्षण के बाद दक्षिण कोरिया ने अपनी सीमाओं के निकट मिसाइल निरोधक अमेरिकी थाड़ मिसाइलें तैनात कर दी हैं जिनका चीन ने यह कहकर विरोध किया है कि इन मिसाइलों के भीतर लगे विशेष राडारों की मदद से दक्षिण कोरिया उसके बड़े भाग के बारे में जानकारी जुटा सकता है।
चीनी रक्षा मंत्रालय की वेबसाइट के मुताबिक इस अभ्यास में युद्धक विमानों को नष्ट करने वाली बटालियन ने हिस्सा लिया और यह अभ्यास बोहाई समुद्र के निकट किया गया जो पीत समुद्र की सबसे भीतरी खाड़ी का एक हिस्सा है। इस दौरान चीनी सैनिकों को मध्य चीन से अचानक इस क्षेत्र में भेजा गया ताकि कम से कम समय में युद्ध जैसी तैयारियों का जायजा लिया जा सके।
वेबसाइट के अनुसार यह पहला मौका है जब इस दौरान ऐसे अनेक उपकरणों का इस्तेमाल किया गया जो कम ऊंचाई पर उड़ने वाले लक्ष्यों को नष्ट करने में सक्षम हैं। मंत्रालय ने यह भी स्पष्ट किया है कि यह अभ्यास किसी खास देश को लेकर नहीं किया गया और यह नियमित वार्षिक रक्षा अभ्यास का एक हिस्सा है।
-एजेंसी