चीन बोला, नागरिकता क़ानून भारत का अंदरूनी मसला

भारत में चीन के उपराजदूत ज़ा लिउ ने कहा है कि नागरिकता क़ानून भारत का अंदरूनी मसला है और इसे भारत ही सुलझा सकता है.
कोलकाता में चीन के कौन्सुल जेनरल ने वहाँ पत्रकारों से कहा, “ये भारत का अंदरूनी मामला है, हमें इस पर कुछ नहीं कहना, ये आपका देश है, और आपके मु्द्दों को आपको ही सुलझाना पड़ेगा.”
भारत में नागरिकता संशोधन क़ानून को लेकर पिछले सप्ताह संयुक्त राष्ट्र ने चिंता जताई थी और संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार आयुक्त के कार्यालय ने इसे “मौलिक रूप से भेदभावपूर्ण” बताया था.
मगर चीन ने इस मुद्दे पर अभी तक कुछ आलोचनात्मक नहीं कहा है.
हालाँकि चीन कश्मीर से अनुच्छेद 370 को बेअसर किए जाने को लेकर खुलकर अपनी राय जताता रहा है.
उसने इस सप्ताह भी संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में कश्मीर मुद्दे पर बंद कमरे में बहस करवाने का प्रस्ताव रखा था मगर दूसरे देशों का समर्थन नहीं मिलने के बाद उन्होंने अपना प्रस्ताव वापस ले लिया.
-BBC

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *