अमेरिका पर हमले का फेक वीडियो जारी किया चीन ने, बम गिराकर दिखाए

पेइचिंग। अमेरिका से जारी तनाव के बीच चीन ने प्रशांत महासागर में स्थिति अमेरिकी नौसैनिक बेस गुआम पर हमले का फेक वीडियो जारी किया। इस हमले में चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी एयरफोर्स ने अपने एच-6 परमाणु बॉम्बर का उपयोग किया। चीनी सेना ने इस हमले का बकायदा एक सिमुलेटेड वीडियो भी जारी किया है, जिसमें उसका एच-6 बॉम्बर अमेरिकी एंडरसन एयर फोर्स बेस पर बम गिराता दिखाई दे रहा है।
चीनी एच-6 बॉम्बर ने गुआम में किया ‘अटैक’
पीपुल्स लिबरेशन आर्मी एयरफोर्स के वीबो अकाउंट पर यह वीडियो शनिवार को अपलोड किया गया था। चीनी वायुसेना का दो मिनट और 15 सेकंड का यह वीडियो किसी हॉलीवुड फिल्म की ट्रेलर की तरह दिखाई दे रहा है। जिसमें चीन का एच-6 बॉम्बर रेगिस्तान में स्थित किसी एयरफोर्स बेस से उड़ान भरता दिखाई दे रहा है। वीडियो में कहा गया है कि युद्ध के देवता एच-6के हमले पर जा रहे हैं।
अमेरिकी एयरफोर्स पर चीनी बॉम्बर ने बरसाए बम
इस वीडियो में आगे दिखाई देता है कि चीनी एयरफोर्स का पायलट आसमान में एक बटन दबाता है और मिसाइल समुद्र के किनारे बने एक रनवे पर गिरकर फट जाती है। जैस ही मिसाइल रनवे से टकराती है वैसे ही उपग्रह से इसका चित्र दिखाया जाता है। जिसमें यह रनवे अमेरिकी नेवल बेस गुआम के एंडरसन एयरफोर्स बेस की तरह दिखाई देता है। इस वीडियो में चीनी एयरफोर्स ने कई तरह के म्यूजिक का भी प्रयोग किया है।
चीनी और अमेरिकी रक्षा मंत्रालय ने नहीं की कोई टिप्पणी
PLAAF ने वीडियो को जारी कर कैप्शन में लिखा कि हम मातृभूमि की हवाई सुरक्षा के रक्षक हैं। हमारे पास मातृभूमि के आसमान की सुरक्षा करने का हमेशा से भरोसा और क्षमता है। इस वीडियो के जारी होने के बाद न तो चीनी रक्षा मंत्रालय ने और न ही अमेरिकी इंडो-पैसिफिक कमांड ने अभी तक कोई टिप्पणी की है।
चीन ने इसलिए जारी किया है यह वीडियो
सिंगापुर के इंस्टीट्यूट ऑफ डिफेंस एंड स्ट्रेटेजिक स्टडीज के एक रिसर्च फेलो कोलिन कोह ने कहा कि चीन ने इस वीडियो को एक खास मकसद से जारी किया है। चीन के इस वीडियो को जारी करने का उद्देश लंबी दूरी तक मार करने की उसकी क्षमताओं का प्रदर्शन करना है। इस वीडियो के जरिए चीन ने अमेरिका को चेतावनी भी दी है कि वह ताइवान और साउथ चाइना सी में विवादों से दूर रहे।
प्रशांत महासागर में अमेरिका का बड़ा सैन्य ठिकाना है गुआम
प्रशांत महासागर में स्थित गुआम नेवल बेस चीन के नजदीक अमेरिका का बड़ा सैन्य ठिकाना है। इस नेवल बेस की बदौलत अमेरिका चीन के साथ उत्तर कोरिया की हरकतों पर भी करीबी नजर रखता है। हाल के दिनों में चीन से बढ़ते तनाव के बीच अमेरिका ने गुआम नेवल बेस पर सैनिकों की संख्या के साथ ही कई आधुनिक एयरक्राफ्ट को भी तैनात किया है। यहां से मिनटों में अमेरिकी बॉम्बर साउथ चाइना सी में स्थित चीन के कई सैन्य ठिकानों पर भीषण बमबारी कर सकते हैं।
चीन ने भारत सीमा पर तैनात किया है यह बॉम्बर
चीन ने लद्दाख में जारी तनाव के बीच इस बॉम्बर को होटान एयरबेस पर भी तैनात किया है। चीन को डर है कि भारत के साथ अगर युद्ध होता है तो उसके फ्रंटलाइन के फाइटर जेट ऊंचाई के कारण ज्यादा प्रभावी नहीं होंगे। ऐसे में उसे इस स्ट्रैटजिक बॉम्बर से हमला करना पड़ेगा इसलिए चीन ने बड़ी संख्या में इन बॉम्बर्स को भारत से लगी सीमा पर तैनात किया है।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *