मसूद अजहर को ग्लोबल टेररिस्ट घोषित करने के प्रस्ताव पर चीन ने दिए नरमी के संकेत

पेइचिंग। आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर को ग्लोबल टेररिस्ट घोषित करने के प्रस्ताव को लेकर चीन ने अब नरमी के संकेत दिए हैं। इस मसले पर अपने पहले के रुख के उलट चीन ने कहा है कि इस मसले को ‘सही तरीके’ से हल करने का प्रयास किया जाएगा। हालांकि चीन ने इसके लिए कोई समय-सीमा तय नहीं की है। पाकिस्तानी पीएम इमरान खान के चीन दौरे के ठीक एक दिन बाद भारत के पड़ोसी देश की यह राय अहम है। इससे पहले चीन ने कई बार संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में मसूद को ग्लोबल आतंकी घोषित करने के प्रस्ताव पर वीटो का इस्तेमाल कर अड़ंगा लगा दिया था।
चीन ने मार्च में चौथी बार इस प्रस्ताव पर रोक लगा दी थी। जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में सीआरपीएफ काफिले पर हुए आतंकी हमले में जैश का नाम सामने आने के बाद फ्रांस, अमेरिका और ब्रिटेन ने यह प्रस्ताव दिया था। हालांकि अब इस मसले पर एक तरह से झुकते हुए चीन ने कहा कि इसका सही हल निकाला जाएगा। चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता गेंग शुआंग ने कहा, ‘मैं सिर्फ इतना कह सकता हूं कि मेरा विश्वास है कि इसका सही ढंग से समाधान निकाला जाएगा।’
फ्रांस, अमेरिका और ब्रिटेन की ओर से मसूद अजहर को ग्लोबल टेररिस्ट घोषित करने के प्रस्ताव पर अपने विरोध को वापस लेने की खबरों से जुड़े सवाल को लेकर चीन ने यह बात कही। संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में 1267 अलकायदा प्रतिबंध समिति के तहत यह प्रस्ताव लाया गया था। इस बार चीन के अड़ंगे के बाद अमेरिका, फ्रांस और ब्रिटेन ने उस पर दवाब बनाया है औ इस मसले पर अन्य विकल्पों पर विचार करने की बात कही थी।
चीन ने कहा, बातचीत से निकालना है हल
चीन ने इसे लेकर अब नरमी दिखाते हुए कहा है, ‘हम इस मसले पर कई बार अपनी पोजिशन बता चुके हैं।’ चीन विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने गेंग शुआंग ने कहा, ‘मैं सिर्फ दो बिंदुओं पर जोर देना चाहता हूं। पहला यह कि इस पर अधिकतम सदस्यों की सहमति और संवाद के साथ ही आगे बढ़ा जा सकता है।’ दूसरा, इस मसले को लेकर बातचीत चल रही है और कुछ प्रगति हुई है। हमें विश्वास है कि सभी पक्षों की सहमति से इस पर आगे बढ़ा जा सकता है।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *