कोरोना पर चीन ने अमेरिकियों को एक्सेस नहीं दिया: माइक पोम्पिओ

वॉशिंगटन। अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ ने कोरोना वायरस महामारी से निपटने को लेकर चीन से सवालों पर जवाब और पारदर्शिता की मांग करते हुए कहा है कि चीन ने अमेरिकियों को तब एक्सेस नहीं दिया जब शुरुआत में इसकी सबसे ज्यादा जरूरत थी।
पोम्पिओ ने कोरोना वायरस को एक वैश्विक महामारी घोषित करने में बहुत लंबा समय लेने के लिए विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) की भी आलोचना की।
विदेश मंत्री ने फॉक्स न्यूज़ से कहा, ‘चीन ने अमेरिकियों को एक्सेस नहीं दिया जब हमें शुरुआत में इसकी बहुत आवश्यकता थी। राष्ट्रपति ने उस बारे में आज बात की और तब हमें पता चला कि उनके पास यह प्रयोगशाला है। हम जानते हैं कि वायरस की उत्पत्ति खुद से वुहान में ही हुई थी इसलिए ये सभी चीजें एक साथ आईं।’
अभी भी नहीं जानते सब
उन्होंने कहा कि अभी भी बहुत कुछ ऐसा है जो अमेरिका नहीं जानता है। उन्होंने कहा, ‘हमें इन बातों के जवाब जानने की जरूरत है। हमारे यहां अभी भी यह वायरस मौजूद है। आपने केवल अमेरिका में ही नहीं बल्कि दुनियाभर में अर्थव्यवस्था को आगे बढ़ाने की कोशिश करने के बारे में बात की।’ पोम्पिओ ने कहा, ‘हमें इन सवालों के जवाब चाहिए, हमें पारदर्शिता चाहिए और WHO को अपना काम करने के लिए, अपने प्राथमिक कार्य को करने की आवश्यकता है जो यह सुनिश्चित करना है कि वैश्विक स्वास्थ्य क्षेत्र में क्या चल रहा है और क्या इसके बारे में दुनिया के पास सटीक, प्रभावी, वास्तविक जानकारी है लेकिन यहां उन्होंने ऐसा नहीं किया।’
WHO ने की देरी
उन्होंने कहा कि WHO ने कोविड-19 को वैश्विक महामारी घोषित करने में बहुत समय लिया। उन्होंने आरोप लगाया कि ऐसा इसलिए था क्योंकि चीनी कम्युनिस्ट पार्टी नहीं चाहती थी कि ऐसा हो। डब्ल्यूएनटीडब्ल्यू रिचमंड को दिये एक अन्य साक्षात्कार में पोम्पिओ ने कहा कि अमेरिका उन चीजों पर ध्यान केंद्रित करेगा जो अमेरिका को सुरक्षित रखने के लिए आवश्यक हैं।
अमेरिका में कोरोना वायरस से मंगलवार को मृतकों की संख्या 25 हजार से पार हो गई है। मंगलवार तक अमेरिका में कोरोना वायरस संक्रमित लोगों की संख्या 6,05,000 थी। आंकड़ों के अनुसार दुनियाभर में कोरोना वायरस से 1,26,722 लोगों की मौत हो चुकी है और इससे लगभग 20 लाख लोग संक्रमित है।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *