झुकना पड़ा चीन को, हांगकांग से प्रत्‍यर्पण बिल वापस लेने का ऐलान

हांगकांग। आखिरकार हांगकांग नेता कैरी लैम ने बुधवार को प्रत्‍यर्पण बिल को वापस लेने का ऐलान कर दिया। इसके विरोध में यहां महीनों से विरोध प्रदर्शन और हिंसक घटनाएं हो रही हैं। महीनों बिल को वापस लेने से इंकार के बाद अंतत: लैम ने शांति कायम करने के लिए इसे वापस लेना ही बेहतर समझा। उन्‍होंने अपने ऑफिस से वीडियो के जरिए बयान जारी किया जिसमें कहा है, ‘जनता की मांग को देखते हुए सरकार आधिकारिक तौर पर विधेयक को वापस ले लेगी।’
जांच आयोग का होगा गठन
साउथ चाइना मॉर्निंग पोस्ट के अनुसार, कैरी लैम बिल के विरोध के कारणों की पहचान के लिए जांच आयोग का गठन करेंगी। प्रदर्शनकारियों ने विरोध जताते हुए मांग की थी कि प्रदर्शन के दौरान पुलिस कार्यवाही की जांच के लिए एक आयोग का गठन हो और गिरफ्तार किए गए लोगों को रिहा कर दिया जाए। इन विरोधों को दंगे के तौर पर न लिया जाए और शहर में राजनीतिक सुधार प्रक्रिया फिर से शुरू हो।
जून में ही शुरू हो गया था विरोध
इसके लिए जून से ही हांगकांग की सड़कों पर हजारों लोग विरोध जता रहे हैं। बता दें कि हांगकांग करीब 150 साल तक ब्रिटिश उपनिवेश रहा। इसके बाद वर्ष 1997 में ब्रिटिश ने हांगकांग को चीन के हाथों सौंप दिया और इसे चीन का ‘विशेष प्रशासनिक क्षेत्र’ बना दिया गया।
क्‍या कहता है बिल
अभी हांगकांग के इस नए बिल के अनुसार यदि चीन में कोई अपराध करता है तो उसे जांच के लिए प्रत्यर्पित किया जा सकेगा। इससे पहले इसमें यह प्रावधान नहीं था, अपराध करने वाले को अन्‍य देशों में प्रत्‍यर्पित करने की संधि नहीं थी। बिल में संशोधन किया गया और कई देशों के साथ प्रत्‍यर्पण के लिए संधि की गई।
हांगकांग की प्रमुख नेता कैरी लैम की गिनती भी चीन के समर्थकों में होती है, उन्होंने खुद इस कानून का समर्थन किया। कैरी लैम का मानना था कि किसी भी कीमत पर अपराधी नहीं छूटना चाहिए।
हाल के कुछ दिनों में प्रदर्शन ज्‍यादा आगे बढ़ गई हांगकांग पुलिस व प्रदर्शनकारियों के बीच पेट्रोल बमों का इस्‍तेमाल होने लगा साथ ही पुलिस आंसू गैस, रबड़ बुलेट आदि का इस्‍तेमाल करने लगे थे। जून में कैरी लैम की ओर से प्रत्‍यर्पण बिल पेश किया गया। इसके बाद से ही शुरू हुए विरोध प्रदर्शन को देखते हुए जुलाई में उन्‍होंने इसके प्रति थोड़ी नरमी दिखाई लेकिन पूरी तरह वापस लेने से इंकार कर दिया।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *