श्राइन बोर्ड मामला: NGT में अवनीश अवस्थी पेश, मुख्य सच‍िव ने द‍िया शपथपत्र, डीएम मथुरा भी रहे मौजूद

मथुरा। श्राइन बोर्ड के मुद्दे पर सुप्रीम कोर्ट की फटकार के बाद एक ओर आज जहां प्रदेश के मुख्य सचिव अनूप चंद्र पांडेय ने अपना शपथपत्र दाखिल किया वहीं दूसरी ओर अपर मुख्य सचिव अवनीश अवस्थी एनजीटी के सामने पेश हुए। इस दौरान जिला अधिकारी मथुरा सर्वज्ञराम म‍िश्र भी मौजूद रहे।

मुख्य सचिव अनूप चंद्र पांडेय ने सभी 17 बिंदुओं पर शपथपत्र दाखिल करते हुए बताया है क‍ि श्राइन बोर्ड का मुद्दा संवेदनशील है इसल‍िए अभी सरकार इस पर और विचार कर रही है।

गिरिराज परिक्रमा संरक्षण संस्थान मामले में आज सुनवाई करते हुए न्यायाधीश रघुवेन्द्र सिंह राठौड़ व सत्यवान सिंह गब्र्याल की पीठ ने उत्तर प्रदेश सरकार की तरफ से पेश हुईंं वरिष्ठ अधिवक्ता और अतरिक्त सॉलिसिटर जनरल पिंकी आंनद से पूछा कि क्या आपकी सरकार के अपर मुख्य सचिव न्यायालय में उपस्थित हैं?

चूंकि अवनीश अवस्थी मौजूद थे इसलिए न्‍यायालय ने श्राइन बोर्ड से संबंधित सभी फाइलों को जमा करने का आदेश दिया।

याचिकाकर्ता बाबा आनंद गोपाल दास व सत्यप्रकाश मंगल के अधिवक्ता सार्थक चतुर्वेदी ने उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा दाखिल शपथपत्र पर ध्यान आकर्षित कराते हुए कई त्रुटियों से न्‍यायालय को अवगत कराया। उन्होंने बताया कि उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा सर्वोच्च न्यायालय में भी एक याचिका दाखिल की गई है।

उत्तर प्रदेश सरकार की ओर से वरिष्ठ अधिवक्ता पिंकी आनंद ने कहा कि सर्वोच्च न्यायालय में दाखिल याचिका की सुनवाई अब 2 अगस्त को होगी, जिस पर न्यायालय ने संज्ञान लेते हुए मामले की अगली सुनवाई 9 अगस्त तय कर दी। न्यायाधीश रघुवेन्द्र सिंह राठौड़ ने कहा कि जब तक सर्वोच्च न्यायालय में मामले की सुनवाई नहीं हो जाती, तब तक हमारा कोई भी आदेश करना न्यायोचित नहीं होगा।

गिरिराज परिक्रमा संरक्षण संस्थान द्वारा दाखिल याचिका में उत्तर प्रदेश सरकार के मुख्य सचिव अनूप चंद्र पांडे ने सभी 17 बिंदुओं पर अपना शपथपत्र दाखिल कर कहा कि उत्तर प्रदेश सरकार सभी 17 बिंदुओं पर कार्य कर रही है तथा सभी कार्यों को पूरा करने के लिये कटिबद्ध है तथा उन्होंने अपने शपथपत्र में कहा कि श्राइन बोर्ड के बेहद संवेदनशील मुद्दा है जिस पर सरकार और गहनता से विचार करना चाहती है।

-Legend News

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *