गोरखनाथ मंदिर परिसर में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने फरियादियों की पीड़ा सुनी

गोरखपुर। गोरखनाथ मंदिर परिसर स्थित हिन्दू सेवाश्रम में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गोरखपुर और आस पास के जिलों से आए 250 फरियादियों की पीड़ा सुनी। आश्वस्त किया कि उनकी समस्याओं का समाधान कराया जाएगा। उन्होंने अपने निकट ही खड़े अधिकारियों को कुछ मामलों में हिदायत भी दी। उन्होंने स्पष्ट किया कि जिले के सभी अधिकारी प्रतिदिन अपने दफ्तरों में निर्धारित अवधि में जनसमस्याएं सुने और समयबद्ध ढंग से निदान कराएं।
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के जनता दर्शन कार्यक्रम के लिए सोमवार की सुबह से 6 बजे से ही फरियादी जुटने लगे थे। मंदिर के मुख्य कार्यालय से लोगों को हिन्दु सेवाश्रम भेजा गया, क्योंकि पिछले दो दौरे से मुख्यमंत्री हिन्दु सेवाश्रम में ही फरियादियों से मिल रहे हैं। यहां फरियादियों को कुर्सियों पर बैठने का इंतजाम किया गया है। गर्मी का ध्यान रखते हुए पंखे और पेयजल की सुविधा का भी इंतजाम था। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने एक अलग कक्ष में बैठ कर बारी-बारी लोगों की पीड़ा सुनी।
सीएम के आगमन के पूर्व जिलाधिकारी ने 200 फरियादियो की शिकायत सुनी। अधिकारियों को जरूरी निर्देश दिए तो पीड़ितों को भी आश्वासन देते रहे। इसके पूर्व वे 6 बजे के करीब मठ से बाहर आए। मंदिर परिसर का भ्रमण कर गुरु गोरक्षनाथ एवं गुरु महंत अवेद्नाथ की प्रतिमा पर पूजन अर्चन किया।

महंत अवैद्यनाथ के नाम पर राजकीय स्टेडियम और महाविद्यालय की आधार शिला रखी
गोरखपुर। इससे पहले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपने ब्रह्मलीन गुरु महंत अवैद्यनाथ के नाम पर राजकीय स्टेडियम और महाविद्यालय की आधार शिला रखी। वैदिक मंत्रों के बीच योगी आदित्यनाथ ने भूमि पूजन किया। योगी आदित्यनाथ के ब्रह्मलीन गुरु महंत अवैद्यनाथ महाराज ने अपने राजनीतिक जीवन की शुरूआत जंगल कौड़िया से की थी।
जंगलकौड़िया के चकिया जंगल रसूलपुर धूस में सोमवार को शिलान्यास समारोह में आए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बताया कि 3 एकड़ जमीन में महंत अवैद्यनाथ राजकीय महाविद्यालय 11 करोड़ रुपये की लागत से खर्च होगा। इससे यहां के आस- पास के छात्रों को घर से दूर गोरखपुर विश्वविद्यालय या निजी कालेजों में नहीं जाना पड़ेगा। लड़कियों को भी उच्च शिक्षा ग्रहण करने में आसानी होगी। सदन रहे कि ब्रह्मलीन महंत अवैद्यनाथ ने 1962, 1967, 1974 और 1977 में उत्तर प्रदेश विधानसभा में मानीराम सीट का प्रतिनिधित्व किया। इसके अलावा वे 1970, 1989, 1991 और 1996 में गोरखपुर से लोकसभा सीट से सदन पहुंचे थे।
अपने गुरु को श्रद्धांजलि देते हुए ब्रह्मलीन महंत अवैद्यनाथ ने 3 एकड़ जमीन में 13 करोड़ रुपये की लगात से महंत अवैद्यनाथ राजकीय ग्रामीण स्टेडियम की भी आधारशिला रखी। उम्मीद जताई कि ग्रामीण क्षेत्र की खेल प्रतिभाओं के लिए यह स्टेडियम वरदान साबित होगा। मुख्यमंत्री ने जिला युवा कल्याण अधिकारी संजय कुमार सिंह और क्षेत्रीय उच्च शिक्षा अधिकारी डा. अश्वनी कुमार मिश्रा को हिदायत दी कि स्टेडियम और कालेज निर्माण की कार्यवाही जल्द से जल्द शुरू कराई जाए। ताकि तय अवधि में निर्माण कार्य पूर्ण हो जाए।
-एजेंसी
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »