मुख्‍यमंत्री ने मुझे रोका था लेकिन राहुल गांधी की अनुमति से मैं वादा निभाने पाकिस्‍तान गया: सिद्धू

हैदराबाद। करतापुर कॉरिडोर के शिलान्‍यास कार्यक्रम में पाकिस्‍तान जाने को लेकर विपक्ष के निशाने पर आए पंजाब सरकार में कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा है कि मुख्‍यमंत्री अमरिंदर सिंह ने उन्‍हें रोका था लेकिन वह फिर भी वादा निभाने पाकिस्‍तान गए।
नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा कि जब मैंने पहली बार पाकिस्तान जाकर करतारपुर कॉरिडोर का वादा करने की बात की थी तो लोगों ने मेरी आलोचना की थी। मेरा मजाक उड़ाया गया था लेकिन अब वही लोग थूक कर चाट कर रहे हैं और यू टर्न मार रहे हैं। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के कम से कम 20 नेताओं ने मुझसे जाने के लिए कहा था। उन्होंने यह भी कहा कि केंद्रीय पार्टी नेतृत्व ने भी मुझे जाने के लिए कहा था। यही नहीं मैंने पाकिस्‍तान के नेताओं से वादा किया था कि दोबारा आऊंगा और मैंने अपना वादा निभाया।
सिद्धू ने कहा, ‘पंजाब के सीएम मेरे पिता की तरह से हैं और मैंने उनसे कहा कि मैंने (पाकिस्‍तान को) वादा किया है कि मैं जाऊंगा।’ सिद्धू ने कहा कि करतारपुर कॉरिडोर के लिए पाकिस्‍तान जाने पर जिन लोगों ने उनका मजाक उड़ाया था, अब वही लोग यूटर्न ले रहे हैं।
बता दें कि कुछ दिन पहले ही पाकिस्तान में गुरुनानक देव की निर्वाणस्थली करतारपुर में कॉरिडोर बनाने का काम शुरू किया गया है जिसके शिलान्यास के लिए सिद्धू को भी न्‍योता दिया गया था और वह वहां गए भी थे।
इमरान खान के शपथ ग्रहण के बाद दूसरी बार पाकिस्तान जाने को लेकर सिद्धू लगातार आलोचकों के निशाने पर हैं। अकाली दल ने जहां इस मसले के बाद सिद्धू को इस्तीफा देने के लिए कहा है वहीं उनकी अपनी पार्टी कांग्रेस में भी उनको लेकर रार छिड़ी हुई है। गौरतलब है कि करतारपुर कॉरिडोर के लिए भारत सरकार ने 20 साल पहले ही पाकिस्तान सरकार के पास प्रस्ताव भेजा था।
सिद्धू ने करतारपुर कॉरिडोर पर काम शुरू होने के बाद इमरान सरकार को बधाई दी है। वहीं भारत सरकार के एक मंत्री ने यह भी दावा किया है कि केंद्र सरकार पिछले 7 महीनों से इस कॉरिडोर के लिए प्रयास कर रही थी। सिद्धू के पाकिस्तान जाने की वजह से इस पर काम नहीं शुरू हुआ है। हैदराबाद में चुनाव प्रचार करने पहुंचे सिद्धू ने यह भी कहा, ‘हम राहुल गांधी के सिपाही हैं, मेरा नारा है कि बुरे दिन जाने वाले हैं और राहुल गांधी आने वाले हैं। लाल किले पर झंडा फहराने वाले हैं। कोई रोक सके तो रोक लो।’
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »