चिदंबरम को फिलहाल सुप्रीम कोर्ट से भी राहत नहीं, गिरफ्तारी संभव

नई दिल्‍ली। INX मीडिया केस में दिल्ली हाई कोर्ट से अग्रिम जमानत की याचिका खारिज होने के बाद फरार चल रहे पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम को आज सुप्रीम कोर्ट से भी तत्काल राहत नहीं मिल पाई है।
जस्टिस एन वी रमना की पीठ ने केस के बिना लिस्टिंग हुए सुनवाई से इंकार कर दिया है और कहा कि इस मामले में उन्हें कल सुबह तक इंतजार करना होगा।
इस केस के लिस्टिंग पर फैसला चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ही करेंगे। हालांंकि सीजेआई रंजन गोगोई ने भी मामले की तत्काल सुनवाई से इंंकार कर दिया। इससे पहले कोर्ट ने चिदंबरम की याचिका को भी दोषपूर्ण बताया था।
कांग्रेस के वरिष्ठ नेता चिदंबरम का पक्ष रखते हुए वरिष्ठ वकील और पूर्व केंद्रीय मंत्री कपिल सिब्बल ने पूर्व वित्त मंत्री की गिरफ्तारी पर रोक लगाने की अपील की।
उन्होंने कहा कि मेरे क्लाइंट कहीं भाग नहीं रहे हैं। हालांकि, इस पर कोर्ट ने कहा कि याचिकाकर्ता की याचिका दोषपूर्ण है और इसके त्रुटिरहित होने के बाद ही लिस्टिंग के लिए भेजा जा सकता है। जस्टिस रमना ने कहा, ‘इससे अधिक हम और कुछ नहीं कर सकते। याचिकाकर्ता को कम से कम कल सुबह तक का इंतजार करना ही होगा।’
‘CJI बोले तो कर सकता हूं सुनवाई’
इसके आगे रजिस्ट्रार ने अदालत को जानकारी दी कि लिस्टिंग पर फैसला CJI को करना है, लेकिन हमें अभी उनके आदेश का इंतजार है। कोर्ट को बताया गया कि चीफ जस्टिस अभी अयोध्या मामले को सुन रहे हैं, ऐसे में उन्हें बीच में टोका नहीं जा सकता है। कपिल सिब्बल ने आग्रह किया कि अगर सभी खामियां दूर हो गई हैं तो मामला सुना जाए। सिब्बल के जोर देने के बाद जस्टिस रमना ने कहा कि अगर चीफ जस्टिस उन्हें आदेश देते हैं तो वह इस मामले की सुनवाई कर सकते हैं।
सिब्बल ने लुकआउट नोटिस पर उठाए सवाल
कांग्रेस सांसद के खिलाफ जारी किए गए लुकआउट नोटिस पर भी उनके वकील कपिल सिब्बल ने सवाल उठाया। उन्होंने कोर्ट से कहा, ‘मेरे क्लाइंट कहीं भाग नहीं रहे और न छुपे हैं। इसके बावजूद उनके खिलाफ लुकआउट नोटिस जारी किया गया। सीबीआई ने उनके घर के बाहर भी नोटिस चस्पा किया है।’ सिब्बल ने एक बार फिर कोर्ट से अग्रिम जमानत पर सुनवाई का अनुरोध किया।
बिना लिस्टिंग के किसी मामले की सुनवाई नहीं कर सकते: जस्टिस रमना
जस्टिस रमना ने याचिका पर सुनवाई से इंकार करते हुए कहा, ‘हम बिना लिस्टिंग के किसी याचिका पर कैसे सुनवाई कर सकते हैं। याचिकाकर्ता की याचिका में जब तक त्रुटियों को दूर नहीं किया जाएगा तब तक उसकी लिस्टिंग नहीं हो सकती। आपके क्लाइंट को कम से कम कल सुबह तक का इंतजार करना ही होगा।’
चिदंबरम के साथ कांग्रेस
बता दें कि मंगलवार को हाई कोर्ट ने पूर्व वित्त मंत्री की अग्रिम जमानत याचिका खारिज कर दी थी। इसके बाद कांग्रेस सासंद ने सुप्रीम कोर्ट का रुख किया। हालांकि कोर्ट से भी फिलहाल उन्हें कोई राहत नहीं मिली है। इस बीच कांग्रेस पार्टी लगातार चिदंबरम के साथ खड़ी नजर आ रही है। प्रियंका गांधी ने चिदंबरम को बेहद सम्मानित सांसद और जनप्रतिनिधि बताया तो राहुल गांधी ने भी उनके समर्थन में ट्वीट किया।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »