चेतन भगत ने कहा, सिर्फ कहानियां कहने के लिए नहीं लिखना चाहता

नई दिल्‍ली। बेस्टसेलर लेखक चेतन भगत का कहना है कि वह अपनी लेखनी का इस्तेमाल सिर्फ कहानियां कहने के लिए नहीं, बल्कि देश के भीतर के कुछ मुद्दों पर ध्यान खींचने के लिए भी करना पसंद करते हैं.
भगत की किताब ‘इंडिया पॉजिटिव’ में शिक्षा, रोजगार, जीएसटी, भ्रष्टाचार और जातिवाद जैसे विषयों के परीक्षण संबंधित निबंध सम्मिलित हैं. इसमें उन्होंने उन ट्वीट्स को भी शामिल किया है, जो वर्तमान मुद्दों पर प्रकाश डालते हैं, जिन पर आज सबको ध्यान देने की आवश्यकता है.
भगत ने आईएएनएस को एक रिकॉर्डेड जवाब में बताया, “यह हमारे देश के महत्वपूर्ण मुद्दे हैं. मैं अपनी लेखनी का इस्तेमाल सिर्फ कहानियों को बताने के लिए नहीं, बल्कि देश के भीतर के कुछ मुद्दों पर लोगों का ध्यान आकर्षित करने के लिए भी करना चाहता हूं.”
उन्होंने कहा, “यहां कुछ सकारात्मक करने के लिए जगह है. सोशल मीडिया पर आजकल लोग काफी नकारात्मक हो गए हैं. ऐसे में मैंने सोचा कि जब यहां जगह है तो जो करने की आवश्यकता है, उस पर ही कुछ सकारात्मक दृष्टिकोण रखा जाए.” हालांकि इसके साथ ही भगत ने यह भी कहा कि उनका राजनीति में आने का कोई इरादा नहीं है.
लेखक ने आगे कहा, “लेकिन मेरा मानना है कि लोगों को मुद्दों के बारे में जागरूक होना चाहिए”
किताबों की विशेषता के बारे में लेखक ने बताया, “किताबों में हमेशा एक जगह रहेगी. किताबें किसी कहानी के इमारत की बुनियाद हैं. किताबों को पढ़ना अपनी कल्पना को विस्तृत करने का और सीखने का सबसे अच्छा तरीका है.” ‘2 स्टेट’ के लेखक की तमन्ना है कि वह ‘एक बड़े महाकाव्य फिल्म’ पर काम करें.
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »