चौराहा Ghatia Azam Khan अब जाम की समस्‍या से मुक्‍त होगा

आगरा। आगरा महानगर का ट्रैफिक की दृष्टि से सब से जटिल चौराहा Ghatia Azam Khan शीघ्र ही समस्या मुक्त होगा। इस चौराहे का प्रबंधन नागरिक सहयोग से स्मार्ट व्‍यवस्‍थाओं से युक्त होगा। उपयुक्त निर्णय “Ghatia A.K. Chauraha Traffic Management Committee” के तहत आयोजित बैठक में लिया गया।

व्यापारियों की ओर से ट्रैफिक संचालन सुधार को लेकर आज एक कार्यक्रम आयोजित किया गया।

एसएसपी आगरा जोगेंदर कुमार ने मुख्य वक्ता के रूप में नागरिकों और समिति के सदस्यों को संबोधित करते हुए कहा कि यातायात को सुधारने के लिए किसी भी स्तर पर होने वाली पहल में ट्रैफिक पुलिस पूरी तरह साथ है। उन्होंने कहा कि वे नहीं चाहते कि किसी की रोजी रोटी कमाने का हक़ प्रभावित हो किन्तु इसके साथ ही हर हालत में ट्रैफिक व्यवस्‍था को सुचारू रखना उन की प्रतिबधता है।

होटल किंग्स पार्क एवेन्‍यू में काफी देर चली मीटिंग में एसएसपी ने कहा कि चौराहे से 100 मीटर की दुरी तक सड़कों पर किसी भी प्रकार का स्थाई या अस्थाई अतिक्रमण किसी भी हालत में बर्दाश्‍त नहीं किया जायेगा।

एस पी ट्रैफिक ने कहा कि सड़कों पर यातायात सुचारू रखना सामुदायिक दायित्व है। ख़ुशी है कि “Ghatia A.K. Chauraha Traffic Management Committee” ने इसके लिए खुद पहल की है। उन्होंने उम्मीद जताई के यह प्रयास आदर्श ट्रैफिक प्रबंधन के रूप में पहचान वाला साबित होगा और अन्य चौराहों के प्रबंधन के लिए मिसाल साबित होगा। उन्होंने ठेला, फेरी वालों से कहा कि इस प्रकार एक ही स्थान पर अधिक समय खड़े होने से बचें जिस से की जाम लगने की स्‍थिति उत्पन्‍न होती है।

एएसपी ने कहा कि क्षेत्र की पुलिस नागरिकों से सहयोग को हर समय तत्पर है। उन्होंने कहा कि उन स्कूलों के प्रबंधकों से भी उपयुक्त कदम उठाने को मीटिंग की जायगी।

यह नई शुरुआत है जब आगरा के एसएसपी ने चौराहे के ट्रैफिक को सुचारू करने के लिए इलाके के सभी लोगों से बैठ कर चर्चा की है। इस मौके पर ‘ट्रैफिक जागरूकता’ पोस्टर भी रिलीज़ किया गया। यह पोस्टर दुकानों और चौराहों व परिधि में आने वाले स्कूलों में लगाये जायेंगे।

समिति के सचिव अनिल शर्मा ने कहा –घटिया चौराहा शहर का बहुत महत्वपूर्ण चौराहा है, इसकी परिधि में आगरा शहर के महत्वपूर्ण स्कूल हैं। यहं पढ़ने वाले बच्चे और उनके अभिभावक वाहन पर चलते है, बच्चों को लाने ले जाने में ऑटो, रिक्शा, वैन/कार और बस का इस्तेमाल किया जाता है। वाहन चालकों के साथ बच्चों को भी ट्रैफिक के नियमों की जानकारी होनी चाहिए। समिति चौराहे को मैनेज करने के साथ साथ परिधि के स्कूलों में आगरा ट्रैफिक पुलिस और ट्रैफिक प्रबंधन पर काम कर रहीं समितियों के साथ मिल कर ट्रैफिक पालन जागरूकता के तहत सभी 8 स्कूलों में गतिविधियाँ करेगी। आगरा के अहम स्कूलों में किये गए ट्रैफिक से संबंधित गतिविधियों का असर पूरे शहर पर पड़ेगा।

समिति पुलिस को सहयोग करके चौराहे को जाम मुक्त करने का प्रयास करेगी। सड़क पर अतिक्रमण–स्थाई और अस्थाई को हटाना पुलिस और नगर निगम का काम है। समिति के अध्‍यक्ष शिरोमणि सिंह ने बताया के उन्होंने घटिया चौराहे को सुन्दर बनाने के लिये नगर महापालिका से बजट पास कराया है। जल्दी ही सभी अप्रूवल से कार्य शुरू होगा। हमारा प्रयास है कि चौराहा सुन्दर हो और ट्रैफिक जाम न लगे।

समिति के उपाध्‍यक्ष टोनी और दयाल कालरा ने कहा कि हमारा उद्देश्‍य जाममुक्त चौराहा और छुट्टी के बाद जाम लगने के कारण स्कूल के बच्चों को बहुत असुविधा होती है। साथ ही जाम का असर ग्राहकी पर भी पड़ता है। दुकानदार, ठेलवाले और घटिया चौकी /हरिपर्वत थाना पुलिस के साथ मिल कर समस्या का समाधान किया जायेगा। चौराहे के पास गली और बाड़े हैं जहाँ पर ठेल लगायी जा सकती हैं।

ट्रैफिक मित्र स्कूल खुलते ही अपने कार्य में लग जायेंगे। एक दिन की ट्रेनिंग हुई है और हमारे वालंटियर्स चौराहे पर कार्य कर के सीखेंगे। हम पुलिस को सहयोग करेंगे, दुकानदार, ठेले वाले, ग्राहकों को और स्कूलों में ट्रैफिक पालन और घटिया आज़म खां पर लगने वाले जाम के बारे में जागरूक करेंगे। समिति के सभी सदस्य घटिया पर रहते हैं और ट्रैफिक जाम की स्‍थिति से अवगत हैं।

बैठक में चौराहे के दुकानदार, ठेले वाले और गणमान्य व्यक्ति डॉ.आर सी शर्मा, श्री राजीव सक्सेना आदि उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »