चैंपियंस ट्रॉफी-2018: भारत ने ओलिंपिक चैंपियन अर्जेंटीना को हराया

ब्रेडा (नीदरलैंड्स)। चैंपियंस ट्रॉफी-2018 में भारतीय हॉकी टीम ने लगातार दूसरी जीत दर्ज की। उसने नीदरलैंड्स की मेजबानी में खेले जा रहे टूर्नामेंट में रविवार को ओलिंपिक चैंपियन अर्जेंटीना को 2-1 से मात दी। विजेता भारतीय टीम के लिए हरमनप्रीत सिंह और मंदीप सिंह ने एक-एक गोल किया जबकि अर्जेंटीना की ओर से गोंजालो पीलाट के नाम एक गोल रहा। इसके साथ ही भारत ने पूर्व कप्तान सरदार सिंह को 300वें मुकाबले में जीत का तोहफा दे दिया। इससे पहले भारतीय टीम ने पाकिस्तान को 4-0 से चित करते हुए जोरदार आगाज किया।
पहले क्वॉर्टर में नहीं लग सका गोल
पहले क्वॉर्टर की शुरुआत दोनों टीमों ने धीमी की और किसी तरह की जल्दबाजी में नहीं दिखीं। भारत ने हालांकि धीरे-धीरे अर्जेंटीना के घेरे में जाना शुरू किया। उसे चौथे मिनट में पेनल्टी कॉर्नर मिल सकता था, जिसे अर्जेंटीना ने रेफरल लेकर नकार दिया। अर्जेंटीना कुछ देर बाद लय में आई और उसे 11वें मिनट में लगातार दो पेनल्टी कॉर्नर मिले, जिसे उसने जाया कर दिया। पहले क्वॉर्टर का अंत बिना गोल के हुआ।
हरमनप्रीत ने लगाया पहला गोल
दूसरे क्वॉर्टर में 17वें मिनट में भारत को पहला पेनल्टी कॉर्नर मिला, जिसे हरमनप्रीत ने गोल में बदल कर अपनी टीम को 1-0 की बढ़त दिलाने में कोई गलती नहीं की। अगले ही मिनट भारत ने एक और मौका बनाया लेकिन अर्जेंटीनी डिफेंस ने एसवी सुनील को रास्ते में ही रोक दिया। 20वें मिनट में अर्जेंटीना ने लगभग गोल कर ही दिया था, जिसे श्रीजेश ने अच्छा बचाव करते हुए नाकाम दिया। अर्जेंटीना बराबरी का गोल करने को बेताब दिख रहा था।
मंदीप ने बढ़त की दोगुनी
इसी बीच भारत ने 28वें मिनट में गोल कर उसकी परेशानी को और बढ़ा दिया। यह गोल मंदीप ने दिलप्रीत के पास पर किया। अर्जेंटीना को अगले मिनट पेनल्टी कॉर्नर मिला और इस बार गोंजालो पीलाट गोल करने में कामयाब रहे। दूसरे क्वॉर्टर के अंत तक स्कोर भारत के पक्ष में 2-1 था। तीसरे क्वॉर्टर की शुरुआत में दोनों टीमें धीमा खेल खेल रही थीं, लेकिन अंत तक आते दोनों ने कुछ अच्छे मूव बनाए।
भारतीय डिफेंस को नहीं भेद सका अर्जेंटीना
41वें मिनट में मंदीप के पास वन टू वन चांस में गोल करने का आसान मौका था, लेकिन वह जब तक गेंद को नेट में डाल पाते उससे पहले ही अर्जेंटीना के दो डिफेंडरों ने उनका रास्ता रोक दिया। अर्जेंटीना की कोशिश पेनल्टी कॉर्नर हासिल करने की थी, जिसमें 43वें मिनट में वह सफल रही। हालांकि वह इस मौके पर बराबर का गोल नहीं कर पाई। अगले ही मिनट 17 वर्षीय दिलप्रीत ने भारत के लिए मौका बनाया।
दिलप्रीत, मंदीप और ललित साथ मिलकर भी गेंद को नेट में नहीं डाल पाए। इसी दौरान सुरेंद्र कुमार को ग्रीन कार्ड मिला और उन्हें बाहर जाना पड़ा। आखिरी क्वार्टर में अर्जेंटीना बराबरी की कोशिश में था। इसी कारण वह आक्रमक खेल खेल रहा था बावजूद इसके वह दूसरा गोल नहीं कर सका। उसने हालांकि भारत को तीसरा गोल करने से दूर भी रखा।
सरदार के सफर पर एक नजर
31 साल के सरदार सिंह का यह 300वां मुकाबला रहा। 2006 में पाकिस्तान खिलाफ अपने इंटरनेशनल करियर का आगाज करने वाले सरदार सिंह को 2012 में एफआइएच के प्लेयर ऑफ द ईयर चुना गया था। उन्हें देश के सबसे बड़े खेल पुरस्कार पुरस्कार राजीव गांधी खेल रत्न औरअर्जुन अवॉर्ड से सम्मानित किया जा चुका है।
चैंपियंस ट्रोफी में खेलती हैं ये टीमें
चैंपियंस ट्रोफी में दुनिया की शीर्ष छह टीमें खेलती हैं। इस बार ओलिंपिक चैंपियन अर्जेंटीना, दुनिया की नंबर एक टीम ऑस्ट्रेलिया, बेल्जियम, मेजबान नीदरलैंड्स, भारत और पाकिस्तान टूर्नामेंट का हिस्सा हैं। भारत के अगले मुकाबले ऑस्ट्रेलिया (27जून), बेल्जियम (28 जून) और नीदरलैंड्स (30 जून) से होंगे।
-एजेंसी

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *