चौ. उदयभान ने औद्योगिक क्लस्टर भूमि मामले में DM से मांगा जवाब

आगरा। उत्तर प्रदेश के एमएमएमई राज्यमंत्री चौ. उदयभान सिंह ने थीम पार्क पर औद्योगिक क्लस्टर हेतु जिलाधिकारी से 27 हैक्टेयर भूमि अवार्ड करने और इसकी प्रगत‍ि को 31 अक्तूबर तक बताने का न‍िर्देश द‍िया है। इस संबंध में उन्होंने डीएम को पत्र ल‍िखकर कहा क‍ि ग्राम रायपुर व रेहनकलां तहसील एत्मादपुर की अर्जित भूमि क्षेत्रफल 27.36 हैक्टेयर भूमि का जिलाधिकारी आगरा यथाशीघ्र अवार्ड घोषित करें ताकि यूपीसीडा की थीम पार्क परियोजना र्में औद्योगिक क्लस्टर व गारमेन्ट हब का विकास व आवंटन कार्य शुरू हो सके और शासन नीति के अनुसार औद्योगिक विकास को गति मिल सके।

पत्र में राज्यमंत्री ने उल्लेख किया कि ग्राम रेहनकलां व रायपुर, तहसील एत्मादपुर, जनपद आगरा, में स्थित थीम पार्क योजना के सम्बन्ध में जिलाधिकारी को पूर्व में  भी पत्र 19.07.2020 को भी अवार्ड करने के लिए भेजा था जिसके क्रम में उन्हें अवगत कराया गया था कि 27.36 हैक्टेयर की अवार्ड की कार्यवाही मुख्य स्थायी अधिवक्ता, उ0प्र0 शासन, इलाहाबाद से विधिक राय प्राप्त होते ही पूर्ण कर ली जायेगी।

चूंकि उक्त प्रकरण में मुख्य स्थायी अधिवक्ता, उ0प्र0 शासन, इलाहाबाद से विधिक परामर्श दिनांकित 05.08.2020 तथा विशेष सचिव, उ0प्र0 शासन, राजस्व अनुभाग-13 से अवार्ड हेतु दिशा निदेश दिनांकित 24.09.2020 को प्राप्त हो चुके हैं, अतः उक्त भूमि का अवार्ड बिना देरी के किया जाये ताकि थीम पार्क स्थल पर औद्योगिक क्लस्टर विकसित हो सके।

राज्यमंत्री चौ. उदयभान सिंह द्वारा पत्र की प्रति मयूर माहेश्वरी, मुख्य कार्यपालक अधिकारी उ0प्र0 राज्य औद्योगिक विकास प्राधिकरण, कानपुर को भी प्रेषित कर यह निदेश दिया कि उक्त अवार्ड की प्रत्याशा में थीम पार्क योजना में लेआउट व कोस्टिंग आदि की अग्रिम कार्यवाही यथाशीघ्र कर मुझे अद्यतन स्थिति से अवगत करा दें।

नेशनल चैम्बर के विधिक प्रकोष्ठ अध्यक्ष के सी जैन ने बताया कि उन्होंने चौ. उदयभान सिंह से आज दिनांक 17.10.2020 को मुलाकत कर प्रकरण से अवगत कराया और आगरा में विकसित औद्योगिक भूखण्डों की कमी की स्थिति को देखते हुए थीम पार्क योजना में औद्योगिक क्लस्टर बनाये जाने की आवश्यकता की बात रखी। विगत 6 साल से 1000 एकड़ में फैले थीम पार्क स्थल का अर्जन होने के उपरान्त भी अनुपयोगी पड़ा हुआ है और प्रतिवर्ष 60-70 करोड़ रू0 का ब्याज का नुकसान हो रहा है और उद्यमियों को भी भूखण्ड नहीं मिल पा रहे हैं। अर्जित 1000 एकड़ भूमि में से केवल 27.36 हैक्टेयर भूमि (लगभग 68 एकड़) का अवार्ड न होने के कारण थीम पार्क विकसित नहीं हो पा रहा है। अब जैसे ही अवार्ड हो जाता है, थीम पार्क र्में औद्योगिक क्लस्टर का विकास हो सकेगा। चैम्बर की ओर से अध्यक्ष राजीव अग्रवाल ने आशा व्यक्त की कि राज्यमंत्री के प्रयास सफल होंगे और औद्योगिक भूमि की कमी दूर हो सकेगी।
– Legend News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *