केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने कहा, दिल्ली में वायु प्रदूषण बरकरार

नई दिल्‍ली। दिल्ली में हवा की स्पीड में इजाफा होने से एयर क्वॉलिटी में थोड़ा सुधार आया है, लेकिन अब भी यह ‘खराब’ कैटिगरी में ही बनी हुई है। हवा की गति की वजह से वायु गुणवत्ता में सुधार होना, इस मौसम के लिहाज से ‘असामान्य’ बात है। केंद्र द्वारा संचालित वायु गुणवत्ता एवं मौसम पूर्वानुमान प्रणाली (एसएएफएआर) के अनुसार ‘वायु गुणवत्ता सूचकांक’ (एक्यूआई) 232 दर्ज किया गया जो ‘‘खराब’’ श्रेणी में आता है।
केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) के आंकड़ों के अनुसार राष्ट्रीय राजधानी के तीन इलाकों में वायु गुणवत्ता ‘बेहद खराब’ रही, जबकि 21 इलाकों में यह ‘खराब’ रही। इसमें कहा गया कि पीएम 2.5 का स्तर 111 दर्ज किया गया, जबकि पीएम 10 का स्तर 241 रहा।
शून्य से 50 अंक तक वायु गुणवत्ता सूचकांक को ‘अच्छा’, 51 से 100 तक ‘संतोषजनक’, 101 से 200 तक ‘मध्यम’, 201 से 300 के स्तर को ‘खराब’, 301 से 400 के स्तर को ‘बहुत खराब’ और 401 से 500 के स्तर को ‘‘गंभीर’’ श्रेणी में रखा जाता है। एसएएफएआर के मुताबिक इस मौसम में हवा की गुणवत्ता में सुधार होना असामान्य है।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »