दिल्ली में हुए कत्लेआम के लिए केंद्र सरकार जिम्‍मेदार: हामिद अंसारी

नई दिल्‍ली। नॉर्थ ईस्ट दिल्ली के दंगों का इशारा नेताओं की तरफ से दिया गया था और केंद्र सरकार चाहती तो इसे रोक सकती थी। यह कहना है पूर्व उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी का। सोमवार को मीडिया से बात करते हुए हामिद अंसारी ने यह बात कही। उन्होंने केंद्र सरकार को दिल्ली में हुए कत्लेआम के लिए जिम्मेदार ठहराया और कहा कि सरकार इस दौरान सोती रही।
हामिद अंसारी ने आगे कहा कि दंगों के लिए एक तरह से नेताओं ने इशारा दिया था। उन्होंने यहां राजनेताओं का नाम लिए बगैर कहा कि लोगों ने उनके बयान सुने।
पहले आक्रमणकारी करते थे कत्लेआम: अंसारी
एक टीवी इंटरव्यू में पूर्व उपराष्ट्रपति ने कहा, ‘दिल्ली में कत्लेआम पहले भी हुए लेकिन पहले कत्लेआम बाहर वाले आक्रमणकारी करते-करवाते थे। जैसे नादिरशाह, अहमद शाह अब्दाली ने आकर दिल्ली वालों को मारा। अब दूसरे तरह की हत्या हुई हैं। 1947 में जो हुआ, सबसे भयानक था लेकिन यह पहली बार है जब सब कह रहे हैं कि सरकार ने रोकने की कोशिश नहीं की।’
बता दें कि नॉर्थ ईस्ट दिल्ली के दंगों में अब तक 46 लोगों की मौत की जानकारी मिली है। अब तक भी कई लोग लापता बताए जा रहे हैं। इस दंगे में करोड़ों रुपये की संपत्ति का नुकसान हुआ है। कई लोगों के घर और दुकानें जला दी गईं।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *