श्रीकृष्ण जन्मस्थान पर मनाया गया मर्यादा पुरुषोत्तम का जन्मोत्सव

मथुरा। राम नवमी के पावन अवसर पर श्रीकृष्ण-जन्मस्थान सेवा-संस्थान के तत्वावधान में मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्रीराम का जन्मोत्सव परंपरागत रूप से भव्यता पूर्वक मनाया गया। इस अवसर पर सर्वप्रथम विद्वान पूजाचार्यों द्वारा वर्ष प्रतिपदा से आरंभ हुए श्रीरामचरितमानस के नवान्ह पारायण के समापन के उपरांत भगवान श्रीराम के श्रीविग्रह का पंचामृताभिषेक कराया गया।

इसके बार भगवान श्री राम को नव-पोषाक धारण कराकर षोडषोपचार पूजन क‍िया गया। भगवान श्री राम की आरती के पश्चात प्रसाद वितरण किया गया। इस अवसर पर भगवान श्री केशवदेव को श्रीराम रूप का श्रृंगार धारण कराया गया।

संस्थान के सचिव कपिल शर्मा ने रामनवमी के पावन अवसर पर प्राणिमात्र के कल्याण की कामना करते हुये सभी भगवद्भक्तों को उत्तम स्वास्थ्य हेतु शुभकामनायें दी हैं।

31 March तक श्रीकृष्ण जन्मस्थान पर बन्द हैं श्रद्धालुओं के ल‍िए दर्शन

इस बार कोरोना लॉकडाउन के चलते सरकार द्वारा द‍िए गए सोशल ड‍िस्टेंस‍िंग के आदेश को मानते हुए श्रीकृष्ण जन्मस्थान संस्थान ने मंद‍िर पर‍िसर में श्रद्धालुओं का प्रवेश 31 March तक बंद रखे जाने का फैसला ल‍िया है। वैश्व‍िक महामारी कोरोना के बढ़ते प्रकोप, केन्द्र एवं राज्य सरकार के दिशा-निर्देश, श्रद्धालुओं/भक्तों के हितों को दृष्ट‍िगत रखते हुऐ जन्मस्थान में श्रद्धालुओं का प्रवेश एवं प्रभु के दर्शन अब 31 March तक के ल‍िए बंद हैं। इससे पहले संस्थान द्वारा 24 मार्च तक प्रवेश रोका गया था परंतु मंदिर की नियमित पूजा-सेवा पूजाचार्यगण द्वारा पूर्ववत अर्पित की जायेगी।

व‍िश्व ह‍िंदू पर‍िषद ने की थी अपील,  घरों में दिए जलाकर रामनवमी मनाएं

कोरोना लॉकडाउन के बीच कल व‍िश्व ह‍िंदू पर‍िषद ने अपील की थी क‍ि घरों में दिए जलाकर और राम नाम जाप कर रामनवमी मनाएं। पर‍िषद ने राम भक्तों से आव्हान क‍िया था कि रामनवमी के दिन 12 बजे अपने घरों में बैठकर भजन और पूजन करें। ऐसा करने की प्रेरणा अपने पड़ोसियों, समाज और मित्रों को भी दें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »