धारा 370 हटने से सिन्धी समुदाय में हर्ष, Ladakh का नाम सिंध लदाख रखने की मांग

मथुरा। धारा 370 हटने की खुशी में सिन्धी समुदाय में हर्ष की लहर रही , इस अवसर पर Ladakh का नाम Sindh Ladakh रखने की मांग की गई।  सौंख रोड स्थित एक मार्केट में बैठक कर सिन्धी पंचायत की ओर से खुशी का इजहार किया गया है।
सिन्धी जनरल पंचायत के अध्यक्ष नारायण दास लखवानी ने कहा कि जम्मू कश्मीर का निर्णय हमारी सरकार का देशभक्तो के लिये ऐतिहासिक निर्णय है, जो हर भारतीय के लिए अमूल्य तोहाफा है। सिन्धी पंचायत मोदी सरकार के इस कदम का स्वागत करती है।
सिन्धी पंचायत के पूर्व राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रामचंद्र खत्री ने कहा कि एक भारत श्रेष्ठ भारत की परिकल्पना अब साकार हो गई है। मोदी सरकार ने अपनी क्षमता का सदोपयोग किया है। उन्होंने कहा कि जिससे भारत की पहचान थी, वो सिन्ध सिन्धियों ने खोया है, अब देश के सभी सिंधी मिलकर यह मांग करते हैं कि Ladakh का नाम सिंध लदाख रखा जाये, इससे सिंधी समाज को सिन्धु नदी के किनारे ही एक अलग सिंधी राज्य भी मिल जायेगा और राष्ट्रगान में जो शब्द है पंजाब सिंध गुजरात मराठा वह भी पूरा हो जायेगा।
सिन्धी पंचायत के प्रदेश मीडिया प्रभारी किशोर इसरानी ने कहा कि सत्तर वर्षों से जिस आजादी का भ्रम भारतीय पाले हुए थे, उसे मूल स्वरूप मोदी सरकार ने दिया है। भारत सरकार के ऐतिहासिक फैसले से देश वास्तविक रूप से अब आजाद हुआ है, देश का हर नागरिक अपनें आप को गौरवान्वित महसूस कर रहा है।
पंचायत के वरिष्ठ मंत्री जीवतराम चंदानी ने कहा कि मोदी सरकार ने समानता के अधिकारों की रक्षा की, भारत का खोया सम्मान लौटाया है। सिन्धी जनरल पंचायत धारा 370 हटने की खुशी में बहुत जल्द गोवर्धन में छप्पन भोग का आयोजन करेगी।
बैठक में मौजूद सिंधी पंचायत के नारायण दास लखवानी, रामचंद्र खत्री, बसंत मंगलानी, जीवतराम चंदानी, चंदनलाल आडवानी, किशोर इसरानी, तुलसीदास गंगवानी, जितेंद्र लालवानी, अशोक अंदानी, कंहैयालाल खत्री, सुरेश मेठवानी, प्रदीप उकरानी, सुनील पंजवानी, गुरूमुख दास, झामन नाथानी, सुंदर खत्री, रमेश नाथानी आदि ने धारा 370 हटने का स्वागत हर्ष व्यक्त किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »