UPPSC की पीसीएस 2011 के चयन में धांधली मामले में सीबीआई ने शुरू की पूछताछ

इलाहाबाद। UPPSC की पीसीएस 2011 चयन में धांधली के विभिन्न आरोपों को लेकर सीबीआई ने पूछताछ शुरू कर दी है। जांच एजेंसी ने प्रदेश सरकार से उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग के चयनित अभ्यर्थियों की सूची मांगी थी। लिस्ट मिलने के बाद चयनित अधिकारियों को दिल्ली सीबीआई मुख्यालय बुलाकर पूछताछ की जा रही है।

UPPSC के अधिकारियों, कर्मचारियों और अचयनित अभ्यर्थियों से भी पूछताछ हो रही है। प्रतियोगी छात्रों ने इस भर्ती को लेकर गंभीर आरोप लगाए थे। पीसीएस 2011 की मुख्य परीक्षा में ही पूर्व अध्यक्ष अनिल यादव ने त्रि-स्तरीय आरक्षण लागू किया था। इसके खिलाफ छात्रों के उग्र प्रदर्शन को देखते हुए आयोग को अपना फैसला वापस लेना पड़ा था।

अभ्यर्थियों ने सीबीआई से शिकायत की थी की त्रि-स्तरीय आरक्षण का फैसला वापस लेने के कारण साक्षात्कार के लिए 178 चयनित अभ्यर्थी बाहर हो गये थे और मुख्य परीक्षा में फेल 151 छात्र पास हो गये थे। हालांकि बाद में 151 सफल अभ्यर्थियों में से किसी का चयन नहीं हुआ था। इन्हें साक्षात्कार में 80 से 85 नंबर मिले थे।

जबकि कुछ विशेष अभ्यर्थियों को साक्षात्कार में 130 और 135 से अधिक नंबर तक दिए गए थे। यही नहीं इन्हीं अभ्यर्थियों को स्क्रीनिंग की आड़ में UPPSC की मुख्य परीक्षा में भी अधिक नंबर दिए गए थे।
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »