चर्चित अख़बार दैनिक भास्कर के कार्यालयों पर CBDT की छापेमारी

देश के चर्चित अख़बार दैनिक भास्कर के कार्यालयों पर आज सुबह से सेंट्रल बोर्ड ऑफ़ डॉयरेक्ट टैक्सेज़ CBDT ने छापेमारी की है.
सीबीडीटी की प्रवक्ता सुरभि अहलूवालिया ने छापेमारी की पुष्टि की है.
सुरभि के अनुसार, ”दैनिक भास्कर के कार्यालयों पर सीबीडीटी का ऑपरेशन जारी है. इस संबंध में अभी हम इतना ही बता सकते हैं.”
ये ऑपरेशन किस बारे में है, इस पर सुरभि ने कहा कि ”अभी ये जानकारी सार्वजनिक नहीं की जाएगी.”
उधर, दैनिक भास्कर के नेशनल एडिटर लक्ष्मी प्रसाद पंत ने बताया कि ‘जयपुर दफ्तर में कुछ टीमें पहुंची हैं. वो क्या जांच कर रहे हैं, ये हमें अभी नहीं पता है. मैं दफ़्तर पहुंच रहा हूं.’
विपक्ष ने लगाया मीडिया पर हमले का आरोप
इस मामले को लेकर विपक्ष सरकार पर हमलावर हो गया है. विपक्षी नेताओं ने सरकार पर मीडिया की आवाज़ दबाने का आरोप लगाया है.
कांग्रेस नेता और मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने ट्वीट किया है, ‘‘मोदी सरकार में प्रजातंत्र के चौथे स्तंभ को दबाने का, सच को रोकने का काम शुरू से ही किया जा रहा है, अभी पेगासस जासूसी मामले में भी कई मीडिया संस्थान व उससे जुड़े लोग बड़ी संख्या में निशाने पर रहे हैं और अब सरकार की निरंतर पोल खोल रहे.’’
‘सच को देश भर में निर्भिकता से उजागर कर रहे दैनिक भास्कर मीडिया समूह को दबाने का काम शुरू हो गया है? अपने विरोधियों को दबाने के लिये, सच को सामने आने से रोकने के लिये ईडी, आईटी व अन्य एजेंसियो का दुरुपयोग यह सरकार शुरू से ही करती रही है और यह काम आज भी जारी है, लेकिन ध्यान रखें कि सत्य परेशान हो सकता है लेकिन पराजित नहीं?
कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने भी दैनिक भास्कर में छापेमारी को लेकर बीजेपी सरकार पर हमला बोला है.
उन्होंने ट्वीट किया, ‘पत्रकारिता पर मोदीशाह का प्रहार!! मोदीशाह का एक मात्र हथियार IT ED CBI! मुझे विश्वास है अग्रवाल बंधु डरेंगे नहीं. दैनिक भास्कर के विभिन्न ठिकानों पर इनकम टैक्स इन्वेस्टिगेशन विंग की छापामार कार्यवाही शुरू…प्रेस कॉन्प्लेक्स सहित आधा दर्जन स्थानों पर मौजूद है इनकम टैक्स की टीम.’
दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी इस मामले पर सरकार की आलोचना की है.
उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘दैनिक भास्कर और भारत समाचार पर आयकर छापे मीडिया को डराने का प्रयास है. उनका संदेश साफ़ है- जो भाजपा सरकार के ख़िलाफ़ बोलेगा, उसे बख्शेंगे नहीं. ऐसी सोच बेहद ख़तरनाक है. सभी को इसके ख़िलाफ़ आवाज़ उठानी चाहिए. छापे तुरंत बंद किए जायें और मीडिया को स्वतंत्र रूप से काम करने दिया जाए.’’
राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने भी इस मामले पर ट्वीट किया है.
उन्होंने लिखा, “दैनिक भास्कर अखबार और भारत समाचार न्यूज़ चैनल के कार्यालयों पर इनकम टैक्स का छापा मीडिया को दबाने का एक प्रयास है. मोदी सरकार अपनी रत्तीभर आलोचना भी बर्दाश्त नहीं कर सकती है. यह भाजपा की फासीवादी मानसिकता है जो लोकतंत्र में सच्चाई का आइना देखना भी पसंद नहीं करती है. ऐसी कार्रवाई कर मोदी सरकार मीडिया को दबाकर संदेश देना चाहती है कि यदि गोदी मीडिया नहीं बनेंगे तो आवाज कुचल दी जाएगी.”
-BBC

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *