”प्रधानमंत्री चुप क्यों हैं”…कहने वाले खुद अपने ग‍िरेबां में झांकें

हमारी लोकतांत्रिक व्यवस्था में देश की आंतरिक और बाह्य सुरक्षा हम सभी का एक गंभीर उत्तरदायित्व है। उसके प्रति जागरूक

Read more

धन को गुलाम बनाना सीखें ताक‍ि अपराध के अनर्थ से बचे रह सकें

आज हमारा समाज तीन प्रमुख वर्गों में बंट गया है। पहला वर्ग उन अमीरों का है जिनके पास बेतहाशा पैसा

Read more

वर्जनाओं के विरुद्ध एकजुट होते- सोच और शरीर

लाइफ़-स्टाइल में बदलाव से ज़िंदगियों में सबसे पहले आधार-भूत परिवर्तन की आहट के साथ कुछ ऐसे बदलावों की आहट सुनाई

Read more

मैं पैदा होते ही डिमांड में आ गया था: अनुपम खेर

मुंबई। लॉकडाउन के पहले तक मैं खुद को बहुत ही रेस्टलेस इंसान समझता था। मुझे हर जगह जाना होता था।

Read more

बेरोजगारों के लिए गोल्ड माइन बनी हुई है सरकारी श‍िक्षक की नौकरी

अकसर हम पुल‍िस को या प्रशासन को क‍िसी भी नाइंसाफी के ल‍िए दोष दे देते हैं या क‍िसी नीत‍ि के

Read more

जन्मद‍िन: संन्यासी की परंपरागत छवि बदलते योगी आदित्यनाथ

एक प्रदेश जो लचर कानून व्यवस्था अराजकता और भ्रष्टाचार के लिए जाना जाता था। ऐसा राज्य जहाँ बिजली कब आएगी

Read more

कोरोना काल में विशेषज्ञ डॉक्‍टर्स पर कॉमन सेंस पड़ा भारी

हमारे यहां ब्रज चौरासी कोस यात्रा में राजस्थान सीमा पर एक गांव है, यह गांव एक ऐसे हड्डी रोग व‍िशेषज्ञ

Read more

अमीरी का मानवाधिकार जो मांगने से नहीं मिलता, कमाना पड़ता है

अमीरी एक ऐसा मानवाधिकार है जिसकी चाहत हर किसी को है। इन्सान ही नहीं, दुनिया का कोई भी जीव दुख

Read more

बच्चों को संस्कारों का ज्ञान कराएँ परन्तु अपना ज्ञान उन पर थोपें नहीं

किसी गाँव में रहने वाले दो परिवारों में ज़मीन को लेकर विवाद बना रहता था। ज़मीनों को लेकर प्रायः विवाद

Read more

दार्शनिक और कुशल राजनीतिज्ञ थीं महारानी अहिल्याबाई होल्कर

आज 31 मई को महारानी अहिल्याबाई होल्कर की 295 वीं जयंती है. महारानी अहिल्याबाई होल्कर का नाम भारतीय इतिहास की

Read more