संस्कृति में मेड ईजी के जीतेन्द्र द्वारा छात्रों की Career काउंसिलिंग

मथुरा। आज जबरदस्त प्रतिस्पर्धा का दौर होने के बाद भी बी.टेक के छात्र-छात्राओं को निराश होने की जरूरत नहीं है, बी.टेक विषय का चयन करके आपने कोई गलती नहीं की है, इस क्षेत्र में Career की अपार सम्भावनाएं हैं, उज्ज्वल भविष्य के लिए सिर्फ डिग्री की आवश्यकता नहीं होती बल्कि इसके लिए प्रोफेशन के प्रति आपकी रुचि, लगन और समर्पण जरूरी होता है।

उक्त उद्गार शुक्रवार को संस्कृति यूनिवर्सिटी में हुई Career काउंसिलिंग में मेड ईजी के विशेषज्ञ, नेशनल मेमोरी के रिकार्ड होल्डर जीतेन्द्र तिवारी ने बी.टेक के छात्र-छात्राओं को सम्बोधित करते हुए व्यक्त किए। करियर काउंसिलिंग कार्यक्रम का शुभारम्भ संस्कृति यूनिवर्सिटी के प्रतिकुलपति प्रो. (डा.) अभय कुमार तथा ओएसडी मीनाक्षी शर्मा ने विद्या की आराध्य देवी मां सरस्वती की प्रतिमा पर पुष्पार्चन और दीप प्रज्‍ज्वलित कर किया।

तकनीकी शिक्षा के क्षेत्र में उत्तर भारत की प्रमुख यूनिवर्सिटी में शुमार संस्कृति यूनिवर्सिटी में शुक्रवार को हुई करियर काउंसिलिंग में मेड ईजी संस्थान के विशेषज्ञ जीतेन्द्र तिवारी ने बी.टेक के छात्र-छात्राओं को बताया कि आधुनिक दौर में तकनीकी विकास के चलते हमारे सामने नये-नये करियर के विकल्प खुल गए हैं और इंजीनियरिंग भी इससे अछूती नहीं है। अगर इंजीनियरिंग के क्षेत्र में आपकी रुचि है तो यह एक अच्छा करियर हो सकता है।

श्री तिवारी ने बी.टेक के विद्यार्थियों को बताया कि जॉब प्लेसमेंट के दौरान विषय के सन्दर्भ में आपका आत्मविश्वास ही आपकी सफलता का आधार बनता है। जब आप अपनी डिग्री पूरी कर लेते हैं तो सबसे पहले तो आपको अपने कॉलेज से ही प्लेसमेंट का अवसर मिलता है। अगर आप उसमें सफल नहीं भी हो पाएं तो खुद डेवलपमेंट, टेस्टिंग, डिजाइनिंग, इलेक्ट्रिकल, सिविल इंजीनियर आदि के लिए अप्लाई कर सकते हैं, इसके बाद आपको आसानी से अच्छी जॉब मिल जाएगी।

जॉब के लिए कोशिश करें, पूरी लगन से पढ़ाई करें ताकि अवसर मिलने पर आपको अपेक्षित सफलता मिल सके। मेड ईजी संस्थान की जहां तक बात है इसकी दिल्ली, बेंगलूर, हैदराबाद, नोएडा, भोपाल, जयपुर, लखनऊ, इंदौर, भुवनेश्वर, कोलकाता, पुणे, पटना आदि में शाखाएं हैं। यह संस्थान इंजीनियरिंग के छात्र-छात्राओं को मार्गदर्शन प्रदान करता है। ओएसडी मीनाक्षी शर्मा ने श्री तिवारी को स्मृति चिह्न प्रदान कर उनका आभार माना। कार्यक्रम का संचालन मैनेजर कार्पोरेट रिलेशन तान्या उपाध्याय ने किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »