नेचरोपैथी के जरिए ले सकते हैं सर्दी का खुलकर आनंद

सर्दी के मौसम अक्सर लोग गर्म कपड़े पहनने और सावधानियां बरतने के बाद भी मौसमी बीमारियों जैसे सर्दी-खांसी, गला खराब, बुखार आदि का शिकार हो जाते हैं।
ऐसे में हम आपको बता रहे हैं कि किस तरह नेचरोपैथी के जरिए अगर आप पोषण से भरपूर डायट खाएं और बैलेंस्ड लाइफस्टाइल जिएं तो सर्दी के मौसम का भी खुलकर आनंद लिया जा सकता है….
ऑर्गैनिक शहद प्रकृति का अमृत है जिसका न सिर्फ स्वाद हमें पसंद आता है बल्कि इसमें विटमिन्स, मिनरल्स और ऐंटिऑक्सिडेंट्स भरपूर मात्रा में होते हैं जिससे हमारी इम्यूनिटी यानी रोगों से लड़ने की क्षमता विकसित होती है और हम सर्दी के मौसम में होने वाली ऐलर्जी से बच जाते हैं।
सर्दी के मौसम में ऐपल साइडर विनिगर यानी सेब का सिरका भी बेहद फायदेमंद है और यह हेल्थ के साथ ही आपकी ब्यूटी को भी बरकरार रखता है। अगर आपको साइनस की समस्या है तो सेब का सिरका इस समस्या से राहत दिला सकता है। साथ ही ठंड के मौसम में रूखे बालों से परेशान हैं तो सुबह-सुबह पानी के साथ सेब के सिरके का सेवन करें।
सर्दी के मौसम में एक और सामान्य समस्या है ड्राई स्किन की जो ठंडी हवा चलने की वजह से कई बार पपड़ीदार हो जाती है। ड्राई स्किन का सबसे बेहतर इलाज है नारियल का तेल। ऐंटि-माइक्रोबायल प्रॉपर्टीज से भरपूर नारियल का तेल स्किन को मॉइश्चराइज्ड रखने के साथ ही त्वचा की नमी भी बनाए रखता है जिससे स्किन ड्राई नहीं होती।
सर्दी के मौसम में अपनी डायट में ऑर्गैनिक घी को भी शामिल करें। घी, हमारे शरीर को गर्म रखने के साथ ही स्किन की ड्राईनेस की समस्या को भी दूर करकता है।
ठंड के मौसम में अस्थमा के मरीजों की समस्या बढ़ जाती है। ऐसे लोगों को तुलसी की चाय का सेवन करना चाहिए। तुलसी में मौजूद ऐंटि-बैक्टीरियल गुण अस्थमा से बचाते हैं। साथ ही तुलसी की चाय कलेस्ट्रॉल लेवल को कम कर हार्ट प्रॉब्लम से भी बचाती है। साथ ही विटमिन A से भरपूर तुलसी, आंखों की रोशनी के लिए भी फायदेमंद है।
-एजेंसी