काहिरा फ़िल्म फेस्टिवल: पारदर्शी कपड़े पहनने पर अभिनेत्री के खिलाफ केस दर्ज

मिस्र की एक अभिनेत्री के काहिरा फ़िल्म फेस्टिवल के दौरान पारदर्शी कपड़े पहनने को लेकर बड़ा विवाद सामने आया है.
मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक इस अभिनेत्री पर व्यभिचार के लिए उकसाने का मामला दर्ज कर लिया गया है.
दरअसल काहिरा फ़िल्म फेस्टिवल के दौरान रानिया यूसेफ़ ने काले रंग वाला पारदर्शी कपड़ा पहना था, जिसमें उनके पांव का अधिकांश हिस्सा नजर आ रहा था. उनकी इस ड्रेस को लोगों ने मुद्दा बना दिया.
हालांकि कुछ लोगों का ये भी कहना है कि रानिया को अपनी पसंद के मुताबिक कपड़े पहनने का अधिकार था.
मिस्र की न्यायिक प्रणाली से जुड़े लोगों ने समाचार एजेंसी एएफ़पी को बताया है कि अगर रानिया दोषी पाईं गईं तो उन्हें पांच सालों तक की कैद हो सकती है.
हालांकि रानिया ने इसके लिए माफ़ी मांगी है. 44 साल की रानिया ने कहा कि अगर उन्हें मालूम होता कि उनके कपड़े से इतना विवाद उत्पन्न होता तो वो ये कपड़े नहीं पहनतीं.
परंपरा-संस्कृति बना मुद्दा
हालांकि रानिया के ख़िलाफ़ एमरो आब्देसलाम और समीर सबरी ने मुक़दमा दर्ज कराया है. ये दोनों सेलिब्रेटी लोगों पर मुक़दमा करने के लिए जाने जाते हैं.
सबरी ने समाचार एजेंसी एएफ़पी ने कहा, “रानिया का पहनावा समाज के मूल्यों, परंपराओं और नैतिकताओं के मुतबिक नहीं है. इससे फ़िल्म फेस्टिवल और मिस्र की महिलाओं की प्रतिष्ठा को नुकसान पहुंचा है.”
मिस्र के कलाकारों के सिंडिकेट ने भी अपने कुछ मेहमानों के पहनावे पर एतराज़ जताया है. रानिया ने अपनी सोशल मीडिया पोस्ट में बताया है कि उनसे कपड़ा चुनने में ग़लती हो गई.
उन्होंने लिखा है, “पहली बार मैंने ये ड्रेस पहनी, मुझे ये नहीं लगा कि इसको लेकर इतना आक्रोश पैदा होगा. लेकिन मैं अपने समाज के मूल्यों के प्रति प्रतिबद्ध हूं.”
पिछले साल, मिस्र की एक अदालत ने सिंगर शाइमा अहमद को- केला खाते हुए अंडरवियर वाले एक म्यूज़िक वीडियो- के चलते दो साल की सजा सुनाई थी, जिसे बाद में एक साल कर दिया गया.
इसके बाद जनवरी में एक और सिंगर लैला आमेर को भड़काऊ म्यूज़िकल डांस के चलते मुक़दमा दर्ज किया गया था.
-BBC

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *