कैफे कॉफी डे बेचने जा रहा है अपना CCD बिजनेस, टाटा ग्रुप लगा सकता है बोली

नई दिल्‍ली। कैफे कॉफी डे अपना CCD यानी काफी वेंडिंग मशीन का बिजनेस बेचने की तैयारी कर रहा है।
इस बीच खबर आ रही है कि टाटा ग्रुप और जूबिलेंट फूड वर्क्स (जो डोमिनोज और डंकिन डोनट्स की फ्रेंचाइजी देता है) सीसीडी के वेंडिंग मशीन के बिजनेस को खरीदने की सोच रहे हैं। सीसीडी अपने इस बिजनेस को करीब 2000 करोड़ रुपये में बेच सकता है। जानकारी के मुताबिक टीसीएस और टाइटन के बाद तीसरे नंबर की सबसे वैल्युएबल कंपनी टाटा कंज्यूमर प्रोडक्ट्स सीसीडी के इस बिजनेस के लिए बोली लगा सकती है।
सीसीडी का वेंडिंग मशीन का बिजनेस कॉफी डे ग्लोबल के तहत आता है, जो कॉफी डे एंटरप्राइज की सब्सिडियरी कंपनी है।
बता दें कि अभी कॉफी डे एंटरप्राइज के शेयर्स की ट्रेडिंग को मार्केट रेगुलेटर सेबी ने बैन किया हुआ है। इसी साल ब्लैकस्टोन ने कुछ लोकल रीयल एस्टेट डेवलपर्स के साथ मिलकर कॉफी डे ग्रुप का बेंगलुरु का ऑफिस करीब 2700 करोड़ रुपये में खरीद लिया था।
CCD का कॉफी प्लांट भी खरीदेगा टाटा ग्रुप!
खबर ये भी है कि टाटा ग्रुप कैफे कॉफी डे का 12 हजार हेक्टेयर का कॉफी प्लांट भी खरीद सकता है। बता दें कि कैफे कॉफी डे के संस्थापक वीजी सिद्धार्थ ने पिछले ही साल आत्महत्या कर ली थी। उम्मीद की जा रही है टाटा ग्रुप ये प्लांट 12 हजार से 15 हजार करोड़ रुपये के बीच में कर सकती है। ग्रुप के कारोबार के साथ ही मालविका हेगड़े कॉफी प्लांटेशन सहित पर्सनल एसेट्स संभाल रही हैं। माना जाता है कि यह एशिया का दूसरा सबसे बड़ा कॉफी प्लांटेशन है।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *