मंत्रिमंडल विस्तार: सोनिया से बोले सचिन पायलट, संघर्ष करने वालों को मिले सम्‍मान

अशोक गहलोत मंत्रिमंडल के विस्तार की अटकलों के बीच दिल्ली में बैठकों का दौर जारी है। राजस्थान के पूर्व डिप्टी सीएम सचिन पायलट ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से मुलाकात की है। मुलाकात के बाद पायलट ने कहा कि ‘जिन कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने 5 साल BJP शासन में धरने दिए, भूख हड़ताल की, लाठियां खाईं जेलों में गए। मुझे लगता है उन सभी को सही पहचान और मान-सम्मान देकर अगर हम आगे रखकर काम करेंगे तो अच्छे परिणाम आ सकते हैं।’
कैबिनेट विस्तार की चर्चा के बीच सोनिया से मिले पायलट
सोनिया गांधी से मुलाकात के बाद सचिन पायलट उत्साहित नजर आए। उनकी बॉडी लैंग्वेज से ऐसे लगा जैसे वो अपनी बात आलाकमान तक पहुंचाने में सफल रहे। यही वजह है कि उन्होंने पार्टी कार्यकर्ताओं की मेहनत के साथ आगामी तैयारियों का जिक्र किया। उन्होंने कहा कि मुझे उम्मीद है कि AICC और राजस्थान सरकार बातचीत करके जल्द उचित फैसला लेगी।
पहले गहलोत अब सचिन, सोनिया से मुलाकात के क्या कहा
एक दिन पहले ही राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत ने दिल्ली में सोनिया गांधी से मुलाकात की थी, उसके बाद वो जयपुर लौट गए। जिसके बाद गुरुवार रात में सचिन पायलट दिल्ली पहुंचे। आज सोनिया गांधी से उनकी मुलाकात हुई। इसके बाद सचिन पायलट ने कहा कि ‘जिन कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने 5 साल BJP शासन में धरने दिए, पदयात्राएं की, भूख हड़ताल की, लाठियां खाईं जेलों में गए और अपना व्यक्तित्व नुक़सान कराया, मुझे लगता है उन सभी को सही पहचान और मान-सम्मान देकर अगर हम आगे रखकर काम करेंगे तो अच्छे परिणाम आ सकते हैं।’
सोनिया से मुलाकात के बाद गहलोत ने क्या कहा था जानिए
गहलोत ने गुरुवार दोपहर करीब 12 बजे कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से मुलाकात की। करीब आधे घंटे चली बैठक के बाद मुख्यमंत्री अशोक गहलोत में कहा कि सोनिया गांधी के साथ अच्छे माहौल में बातचीत हुई है। राजस्थान में मंत्रिमंडल विस्तार और राजनीतिक नियुक्तियों पर सारी बात हाईकमान के समक्ष रख दी है। हाईकमान जो फैसला लेगा मंजूर होगा। उन्होंने कहा, मैंने राजस्थान के विषय पर सारी स्थिति सोनिया गांधी और कल हुई बैठक में रख दी है। अब आगे का फैसला आलाकमान पर छोड़ा है।
राजस्थान मंत्रिमंडल में 8 से 12 नए चेहरों को मिल सकती है जगह
सचिन पायलट और गहलोत के दिल्ली दौरे और शीर्ष नेताओं से मुलाकात के साथ ही राजस्थान में लंबे समय से प्रस्तावित मंत्रिमंडल विस्तार और राजनीतिक नियुक्तियों को लेकर एक बार फिर चर्चा शुरू हो गई है। उम्मीद लगाई जा रही है कि जल्द ही राजस्थान में मंत्रिमंडल विस्तार और फेरबदल पर फैसला हो जाएगा। सूत्रों के अनुसार आठ से बारह नए चेहरों को मंत्रिमंडल में जगह मिलेगी और तीन पुराने चेहरों को हटाया जा सकता है। संभावना है कि इसमें पायलट खेमे के 4 चेहरे मंत्रिमंडल में शामिल होंगे।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *