जानकी मंदिर में षोड्षोपचार विधि से पूजा-अर्चना की पीएम मोदी ने

काठमाण्‍डु। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सीता के मायके जनकपुर धाम से अपने दो दिवसीय नेपाल दौरे की शुरुआत की है। शुक्रवार करीब 11 बजे प्रधानमंत्री ने जानकी मंदिर में षोड्षोपचार विधि से मां सीता की विधिवत पूजा अर्चना की। इस दौरान पीएम अखंड कीर्तन में भी शामिल हुए और झाल बजाई। आपको बता दें कि आमतौर पर देवी-देवताओं की पूजा पंचोपचार विधि से की जाती है।
षोड्षोपचार पूजा विधि का विशेष महत्व है क्योंकि इसमें 16 प्रकार से पूजा की जाती है। इसमें तांत्रिक मंत्रों का भी प्रयोग किया जाता है। खास बात यह है कि जानकी मंदिर में इस विधि से पूजा की व्यवस्था विशेष अतिथियों के लिए ही की जाती है। मंदिर के पुजारी रामतापेश्वर दास वैष्णव बताते हैं कि नरेंद्र मोदी से पहले भारत के पूर्व राष्ट्रपति नीलम संजीव रेड्डी, ज्ञानी जैल सिंह और प्रणव मुखर्जी यहां षोड्षोपचार विधि से पूजन कर चुके हैं।
नरेंद्र मोदी भारत के पहले प्रधानमंत्री हैं, जिन्होंने इस विधि से जनकपुर धाम में पूजा कर माता सीता का आशीर्वाद प्राप्त किया। इसके साथ ही जनकपुर को रामायण सर्किट से जोड़ दिया गया है। जनकपुर-अयोध्या सीधी बस सेवा की भी शुरुआत हुई है, जिससे राम और जानकी के भक्त आसानी से आ-जा सकेंगे।
जनकपुर धाम में देवी सीता को समर्पित 9 लखा मंदिर का निर्माण भारत के टीकमगढ़ की महारानी वृषभानु कुमारी ने कराया था। उस समय इस मंदिर के निर्माण में 9 लाख रुपए का खर्च आने के कारण ही इस मंदिर का नाम नौलखा मंदिर पड़ा। प्रधानमंत्री मोदी नेपाल के मुक्तिनाथ भी जाएंगे।
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »