शराब, गुटखा की दुकान खुलवाना कोरोना से लड़ाई को धक्‍का

मथुरा। केंद्र सरकार के द्वारा 2 सप्ताह का लॉक डाउन पुनः घोषित कर दिये जाने पर नगर उद्योग व्यापार प्रतिनिधि मंडल के प्रभारी जितेंद्र प्रजापति ने अपनी प्रत‍िक्र‍िया व्यक्त की है। उन्होंने कहा क‍ि सरकार ने लॉकडाउन:-3 में शराब, गुटखा, पान आदि की दुकानों को खोलने की जो परमीशन दी गई है, उससे कोरोना से न‍िबटने की सरकार की कोश‍िशों को धक्का लग सकता है। हालांक‍ि हम सरकार की मंशा पर कोई प्रश्नचिन्ह नहीं लगा रहे है किंतु आज ये प्रश्न व्यापार‍ियों को परेशान कर रहा है क‍ि जब व्यापारी, छोटे छोटे दुकानदार अपने अपने व्यापार को बंद कर जीवन मृत्यु के दौर में सरकार की नीतियों एवं नियमों का अनुपालन कर रहे हैं और दैनिक रूप से आमदनी करके अपने घर का पोषण करने वाले लोग भी जब इस लॉक डाउन का संपूर्ण पालन कर रहे हैं तो क्या शराब, गुटखा और पान जैसी वस्तुएं इतनी अति आवश्यक है थीं क‍ि इनके उपयोग की अनुमति प्रदान की गई।

जितेंद्र प्रजापति ने कहा क‍ि क्या पान और गुटखा के सेवन से सार्वजनिक स्थानों पर थूकने और संक्रमण की संभावना नहीं बढ़ेगी। सरकारें इस समय व्यापारी के दमन के साथ ऐसे अनुपयोगी वस्तुओं के उपभोग का प्रयास कर रही हैं ताकि उनके राजस्व कोष में वृद्धि हो सके।

जब संकट काल में भारतवर्ष का संपूर्ण व्यापारी संयमित होकर अपने परिवार समाज और आश्रितों का भरण पोषण कर रहा है तो क्या शासन प्रशासन के पास अपने संसाधनों में इतना भी कोष नहीं है कि वह इस आपदा के समय में महामारी को बढ़ाने का प्रयोग ना करें।

सरकार के उक्त न‍िर्णय पर अपना रोष जाह‍िर करते हुए जितेंद्र प्रजापति ने नगर उद्योग व्यापार प्रतिनिधि मंडल की ओर से शासनकर्ताओं को सद्बुद्धि की ईश्वर से प्रार्थना की है।

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *