बजट: 2024 तक हर जिले में होंगे जन औषधि केंद्र

नई दिल्‍ली। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने वित्त वर्ष 2020-21 का बजट पेश करते हुए हेल्थ सेक्टर के लिए कुछ बड़े ऐलान किए हैं।
69 हजार करोड़ हेल्थ सेक्टर के लिए प्रस्तावित है। इसमें पीएम जन आरोग्य योजना का 6 हजार 400 करोड़ रुपया भी शामिल है।
पीएम जनआरोग्य योजना के तहत 20 हजार से ज्यादा अस्पताल पैनल में हैं। इसे बढ़ाया जाएगा।
मिशन इंद्रधनुष का दायरा बढ़ाकर इनमें 12 बीमारियां ला दी गई हैं। इसमें पांच नए वैक्सीन जोड़ दिए गए हैं।
पीएम जन आरोग्य योजना से 20 हजार से ज्यादा अस्पताल जुड़े हैं। ये आयुष्मान भारत के लाभार्थियों का इलाज करते हैं। हमें टियर 2 और टियर 3 शहरों में और पीपीपी मोड से अस्पतालों बनाए जाएंगे।
पहले चरण में 112 आकांक्षी जिलों से इसकी शुरुआत होगी। इनमें भी जिन जिलों में एक भी अस्पताल पैनल में नहीं है, उन्हें प्राथमिकता दी जाएगी। इससे बड़ी संख्या में रोजगार मिलेगा।
मेडिकल उपकरणों पर जो टैक्स लगता है उससे मिलने वाले पैसे का उपयोग इन्हीं अस्पतालों को बनाने में किया जाएगा।
जन औषधि केंद्र को 2024 तक हर जिले में लाया जाएगा। इनमें 2 हजार दवाइयां और 3 हजार सर्जिकल्स उपलब्ध होंगे।
फिट इंडिया मूवमेंट भी चल रहा है। स्वच्छ भारत मिशन भी चल रहा है।
टीबी हारेगा, देश जीतेगा – ये अभियान लांच किया गया है। 2025 तक टीवी की बीमारी को भारत से खत्म किया जाएगा।
ओडीएफ प्लस ताकि साफ-सफाई को लेकर जागरुकता बढ़ाई जाए। सॉलिड वेस्ट कलेक्शन पर फोकस रहेगा। इस वर्ष 2020-21 में स्वच्छ भारत अभियान के लिए 12,300 करोड़ रुपए निर्धारित किए गए हैं।
हर घर तक पाइप से पानी पहुंचाने के लिए जल जीवन मिशन पर काम चल रहा है जिसे 3.6 लाख करोड़ रुपए दिए जा रहे हैं। 10 लाख से ज्यादा आबादी वाले शहरों में ये स्कीम इसी साल तक लागू करने का लक्ष्य है।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *