दुष्कर्म के आरोपी गठबंधन सांसद Atul Rai को जाना ही होगा जेल

नई दिल्ली। उत्तर प्रदेश की घोसी सीट से सपा-बसपा गठबंधन के नव निर्वाचित सांसद Atul Rai को दुष्कर्म के मामले में सुप्रीम कोर्ट ने सोमवार को गिरफ्तारी से छूट देने से इनकार कर दिया है। अतुल राय की गिरफ्तारी से संरक्षण की याचिका को सुप्रीम कोर्ट ने खारिज कर दिया है।

अब अतुल राय को संसद की सीढ़ियां चढ़ने से पहले जेल जाना ही होगा। अतुल राय पर वाराणसी की एक छात्रा के दुष्कर्म और अपहरण का आरोप है। बलात्कार के आरोपी अतुल राय ने गिरफ्तारी से संरक्षण की मांग करते हुए याचिका दाखिल की थी जिसे सुप्रीम कोर्ट ने एक बार फिर खारिज कर दिया है। बता दें कि यूपी कॉलेज की एक पूर्व छात्रा ने उनपर केस दर्ज करवाया था। इसके बाद न्यायिक मैजिस्ट्रेट ने उनकी गिरफ्तारी के आदेश दिए थे। इसके बाद से ही अतुल राय फरार चल रहे हैं।

प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई और न्यायमूर्ति अनिरुद्ध बोस की अवकाश पीठ ने कहा कि वह राय को गिरफ्तारी से राहत देने वाली याचिका पर सुनवाई करने के पक्ष में नहीं हैं। इससे पहले भी अदालत राय को गिरफ्तारी से अंतरिम छूट देने से मना चुकी है।

कॉलेज की छात्रा की शिकायत पर एक मई को राय के खिलाफ यह मामला दर्ज हुआ था। वाराणसी की रहने वाली छात्रा ने आरोप लगाया है कि राय अपनी पत्नी से मिलवाने की बात कह कर उसे घर ले गए और वहां उसका दुष्कर्म किया।

राय के वकील का कहना है कि यूपी में अग्रिम जमानत का कोई प्रावधान नहीं है, इसलिए न्यायालय ने गिरफ्तारी से छूट का अनुरोध करने वाली राय की याचिका आठ मई को ठुकरा दी थी।

गौरतलब है कि अतुल राय ने अपने खिलाफ दर्ज मामले में 23 मई तक राहत देने की मांग की थी जिसे सुप्रीम कोर्ट ने ठुकरा दिया था। तब न्यायमूर्ति इंदिरा बनर्जी और न्यायमूर्ति संजीव खन्ना की अवकाश पीठ ने सुनवाई के दौरान कहा था,‘यह रद्द करने वाला मामला नहीं है।’ इस दौरान कोर्ट ने कहा था, ‘चुनाव लड़िए और यह मुकदमा भी।’ पीठ ने अतुल राय के वकील से यह भी कहा था, ‘माफ करिएगा। आप रद्द करने की प्रक्रिया से बखूबी अवगत हैं।’ इसके बाद इस पर सोमवार को सुनवाई होनी थी जहां कोर्ट ने दोबारा अतुल राय की याचिका खारिज कर दी।

घोसी सीट से गठबंधन से बीएसपी के फरार उम्मीदवार अतुल राय अपने प्रतिद्वंद्वी बीजेपी के हरिनारायण से एक लाख 22 हजार वोटों जीते थे।

-एजेंसी

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *