कार्यकर्ताओं द्वारा ही जूतों की माला पहनाकर गधे पर बैठाए गए BSP के राष्ट्रीय कॉर्डिनेटर

जूतों की माला पहने गधे पर बैठे बसपा के राष्ट्रीय कॉर्डिनेटर रामजी गौतम
जूतों की माला पहने गधे पर बैठे बसपा के राष्ट्रीय कॉर्डिनेटर रामजी गौतम

जयपुर। बहुजन समाज पार्टी BSP के राष्ट्रीय कॉर्डिनेटर रामजी गौतम तथा प्रदेश प्रभारी सीताराम मेघवाल को अपनी पार्टी के कार्यकर्ताओं का रोष झेलना पड़ा।
BSP कार्यकर्ताओं ने दोनों नेताओं पर टिकट बेचने का आरोप लगाकर उनका मुंह काला करके उन्हें जूतों की माला पहना दी।
कार्यकर्ताओं का आक्रोश यहीं नहीं थमा। उन्होंने उन्हें गधे पर बैठाकर घुमाया भी।
मंगलवार को रामजी गौतम और सीताराम पार्टी कार्यालय में ही थे। तभी कुछ कार्यकर्ता नारेबाजी करते हुए अंदर आ गए और रामजी गौतम और सीताराम का मुंह काला कर दिया और गधों पर बैठाकर घुमाया। कार्यकर्ता इन दोनों के खिलाफ जमकर नारे लगा रहे थे।
इससे पहले भी BSP की बैठक में कार्यकर्ताओं ने हंगामा किया था, इसमें मारपीट तक हो गई थी। इसके बाद मामला थाने पहुंच गया था।
ये सारा विवाद कुछ दिन पहले तब शुरू हुआ था जब BSP के छह विधायक कांग्रेस में शामिल हो गए थे। कार्यकर्ता इस बात से नाराज थे और आरोप लगा रहे थे कि बसपा में टिकट बेचे जाते हैं। कार्यकर्ता इन दोनों पदाधिकारियों पर टिकट बेचने के आरोप लगा रहे थे। BSP से चुनाव जीते विधायक राजेंद्र गुढ़ा ने भी आरोप लगाए थे कि BSP में टिकट बेचे जाते हैं। इसके बाद से ही विवाद और बढ़ गया था।
कुछ दिन पहले BSP के छहों विधायक उदयपुरवाटी से राजेंद्र गुढ़ा, नगर से वाजिब अली, नदबई से जोगिंदर अवाना, तिजारा से संदीप यादव, किशनगढ़ बास से दीपचंद खेरिया और करौली से लाखन सिंह ने बसपा विधायक दल का विलय कांग्रेस में कर लिया था। इससे पहले मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने 2009 में भी इसी तरह बसपा के छह विधायकों को पार्टी में शामिल किया था।

बसपा सुप्रीमो मायावती का ट्वीट

 

 

इसके बाद BSP सुप्रीमो मायावती ने ट्वीट करके सारे घटनाक्रम के पीछे कांग्रेस का हाथ बताया। देखिए मायावती का ट्वीट-
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »