समाजवादी पार्टी से चर्चा करके अपने पत्ते खोलेगी बसपा

लखनऊ। बहुजन समाज पार्टी अध्‍यक्ष मायावती ने आज लोकसभा चुनाव के लिए अपने 38 प्रत्‍याशियों के नामों को अंतिम रूप दे दिया। सियासी गलियारों में पहले ऐसी चर्चा थी कि मायावती प्रत्‍याशियों के नामों की घोषणा भी कर सकती हैं लेकिन इस पर उन्‍होंने अपने पत्ते नहीं खोले। बीएसपी ने एक बयान जारी करके कहा है कि पार्टी अभी समाजवादी पार्टी के शीर्ष नेतृत्‍व से इस बारे में चर्चा करेगी।
मायावती ने पार्टी कार्यकर्ताओं से अपील की कि वे पूरे तन, मन और धन के साथ बीएसपी-एसपी और आरएलडी के गठबंधन को जिताएं। उन्‍होंने कहा कि सत्‍तारूढ़ बीजेपी न केवल जातिवादी, सांप्रदायिक और गरीब विरोधी पार्टी है बल्कि साम, दाम, दंड, भेद का इस्‍तेमाल करके चुनाव जीतने में विश्‍वास करती है।
मायावती ने कहा कि उत्‍तर प्रदेश, उत्‍तराखंड और मध्‍य प्रदेश में बीएसपी-एसपी बेहतर विकल्‍प के रूप में उभर रहे हैं।
बीएसपी सुप्रीमो ने कहा कि देशभर में बीजेपी की हालत खराब है और सत्‍ता जाने का डर बीजेपी नेतृत्‍व को सताने लगा है। बीजेपी की वर्तमान केंद्र सरकार वास्‍तव में झूठे वायदों और वादाखिलाफी की सरताज निकली। बीजेपी के राज में आम जनता मंहगाई की मार झेल रही है। मायावती ने कार्यकर्ताओं से अपील की कि वे चुनाव के दौरान ईवीएम का खासतौर पर ध्‍यान रखें।
बता दें कि यूपी में जहां समाजवादी पार्टी और कांग्रेस ने अपने कई उम्‍मीदवारों की लिस्‍ट जारी कर दी है, वहीं बीएसपी ने अभी तक अपना पत्‍ता नहीं खोला है। बीएसपी प्रमुख मायावती लंबे समय से लखनऊ में ही हैं। तब से वे लगातार बैठकें ले रही हैं। यूपी में ही ज्यादा समय देने के लिए उन्होंने अपने आवास को केंद्रीय कैंप कार्यालय में भी तब्दील कर दिया है। अभी तक यहीं से वे दूसरे राज्यों की बैठकें भी ले रही थीं।
यूपी में 7 चरणों में लोकसभा चुनाव
यहीं पर गुरुवार को उन्होंने वरिष्ठ पदाधकारियों के अलावा यूपी के कोऑर्डिनेटरों की बैठक बुलाई थी। हालांकि पार्टी ने प्रभारियों के नाम पहले ही तय कर दिए थे। तब से वे चुनाव प्रचार भी कर रहे हैं लेकिन प्रत्याशियों की आधिकारिक लिस्ट जारी नहीं की थी। प्रदेश में पहले चरण का नामांकन 18 मार्च से शुरू होना है। माना जा रहा है कि कुछ प्रभारियों के नाम इस लिस्ट से कट सकते हैं और उनकी जगह किसी दूसरे को प्रत्याशी घोषित किया जा सकता है। बता दें कि यूपी में सात चरणों (11 अप्रैल-19 मई) में लोकसभा चुनाव हो रहे हैं। 23 मई को वोटों की गिनती होगी।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »