लोकसभा में डांट खा गए अम्‍बेडकर नगर से बसपा के सांसद रितेश पांडेय

अम्‍बेडकर नगर से बसपा सांसद रितेश पांडेय सोमवार को लोकसभा में डांट खा गए। प्रश्‍नकाल के दौरान स्‍पीकर ओम बिड़ला ने टोका-टाकी करने पर उन्‍हें सुना दिया। पांडेय ने वित्‍त मंत्री निर्मला सीतारमण से सवाल पूछा था। सीतारमण जवाब दे ही रही थीं कि पांडेय ने उन्‍हें टोकते हुए कुछ कहा। इस पर स्‍पीकर बिफर गए। उन्‍होंने पांडेय से कहा, ‘आपको मैंने अलाउ थोड़ी न किया था। मंत्रीजी आप जवाब मत दीजिए।’ इसके बाद स्‍पीकर अगले सवाल पर बढ़ गए। उन्‍होंने मुस्‍कुराते हुए कहा, ‘सदन खुद ही चला रहे हैं।’
पांडेय ने सीतारमण से पूछा था सवाल
प्रश्‍नकाल शुरू हुए करीब 21 मिनट गुजर चुके थे। लोकसभा में राजेंद्र अग्रवाल स्‍पीकर की भूमिका में थे। उन्‍होंने अम्‍बेडकर नगर (यूपी) से बसपा सांसद रितेश पांडेय को अपना सवाल पूछने के लिए कहा। पांडेय जब तक अपना सवाल खत्‍म करते, स्‍पीकर ओम बिड़ला अपनी कुर्सी पर लौट आए थे। रितेश ने पूछा, ‘LIC के जो ऑपरेशंस हैं, वो करोड़ों लोगों के वेलफेयर से जुड़ा मुद्दा है। मात्र 2% लोग ही शेयर मार्केट को एक्‍सेस करते हैं। मेरा प्रश्‍न यह है कि LIC का जो IPO निकल रहा है, उसके निकलने के बाद LIC से जुड़े हुए लोगों का कल्‍याण कैसे सुनिश्चित करेगी जब LIC निजी हाथों में चली जाएगी?
ये काम मेरा है, आप लोगों का नहीं
जवाब देने वित्‍त मंत्री निर्मला सीतारमण खड़ी हुईं। उन्‍होंने कहा, सांसद जी को पता होगा कि IPO के जरिए आप कंपनी के सीमित शेयर पब्लिक ऑफर के लिए देते हैं। इस पर पांडेय ने टोक‍ते हुए कहा, ‘LIC के ऑपरेशंस पर… एक बार निजी खिलाड़‍ियों के शामिल होते ही सरकार कैसे सुनिश्चित करेगी कि करोड़ों भारतीय जो इसका इस्‍तेमााल करते हैं, उन्‍हें नुकसान न हो?’ बिड़ला ने तुनकते हुए कहा, आपको मैंने अलाउ थोड़ी किया था, नो… माननीय मंत्री जी जवाब मत दीजिए। क्‍वेश्‍चन नंबर 103, सौमित्र खान… सदन खुद ही चला रहे हैं।’ ऐसा कहते हुए बिड़ला के चेहरे पर मुस्‍कान थी। उन्‍होंने आगे कहा, ‘ये काम मेरा है, आप लोगों का नहीं है।’
संसद के शीतकालीन सत्र में 12 राज्‍यसभा सांसदों को निलंबित किए जाने पर गतिरोध बरकरार है। दोनों सदनों में विपक्षी सांसदों का हंगामा जारी है। प्रश्‍नकाल के दौरान भी विपक्षी संसद तख्तियां लहराते और नारेबाजी करते नजर आते हैं।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *