BSF ने कहा, CAA के बाद बड़ी तादाद में बांग्‍लादेशी स्‍वदेश लौटे

कोलकाता। BSF ने शुक्रवार को कहा कि CAA के लागू होने के बाद पिछले करीब एक महीने में स्वदेश लौटने वाले अवैध बांग्लादेशी प्रवासियों की संख्या में काफी बढ़ोत्तरी दर्ज की गई है।
अर्द्धसैन्य बल के एक शीर्ष अधिकारी ने कहा कि ऐसा लगता है कि संशोधित नागरिकता कानून CAA के क्रियान्वयन के बाद अवैध प्रवासियों के बीच डर के कारण यह संख्या बढ़ी है।
BSF के महानिरीक्षक (साउथ बंगाल फ्रंटियर) वाई बी खुरानिया ने संवाददाताओं से कहा, ‘पिछले एक महीने में सीमावर्ती देश जाने वाले अवैध बांग्लादेशी प्रवासियों की संख्या में काफी वृद्धि हुई है। हमने केवल जनवरी में 268 अवैध बांग्लादेशी प्रवासियों को पकड़ा जिनमें से अधिकतर लोग पड़ोसी देश जाने की कोशिश कर रहे थे।’
बांग्लादेश सीमा पर घुसपैठ रोकने के लिए उठाया कदम
बांग्लादेश सीमा पर घुसपैठ रोकने के लिए BSF ने हाल ही में कटीले तारों की जगह नई फेंस लगानी शुरू की है। नई फेंस को आसानी से काटा नहीं जा सकता है जबकि पुराने कटीले तारों को आसानी से काटकर अवैध घुसपैठिए भारत में आ जाते थे। फिलहाल करीब सात किलोमीटर लंबी इस स्मार्ट फेंस को बांग्लादेश सीमा से सटे असम के सिल्चर सेक्टर में लगाया गया है।
देश में हो रहा CAA का समर्थन, तो विरोधी भी कम नहीं
बता दें कि बांग्लादेश, पाकिस्तान और अफगानिस्तान के धार्मिक अल्पसंख्यकों को भारत की नागरिकता देने वाले नागरिकता संशोधन कानून CAA को लेकर देशभर में विवाद है। जहां एक धड़ा इसका समर्थन कर रहा है तो वहीं एक वर्ग इसे मुस्लिमों के खिलाफ बताकर विरोध-प्रदर्शन भी कर रहा है। उधर सरकार का दावा है कि यह पड़ोसी देशों में सताए हुए धार्मिक अल्पसंख्यकों को राहत देने वाला कानून है।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *