हनीट्रैप में फंसा BSF का कॉन्स्टेबल, एटीएस ने गिरफ्तार किया

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के आतंकवाद निरोधक बल (एटीएस) ने पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई की एजेंट के साथ गोपनीय सूचनाएं साझा करने के आरोप में BSF के एक कॉन्स्टेबल को गिरफ्तार किया है। पुलिस का कहना है कि आईएसआई की एक महिला एजेंट कॉन्स्टेबल अच्युतानंद मिश्र को हनीट्रैप में फंसा कर उससे गोपनीय सूचनाएं हासिल कर रही थी और उसे अपनी एजेंसी को भेज रही थी।
उत्तर प्रदेश के डीजीपी ओम प्रकाश सिंह ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि BSF के कॉन्स्टेबल अच्युतानंद मिश्रा को एटीएस टीम ने बुधवार को नोएडा सेक्टर-18 से गिरफ्तार किया। मध्य प्रदेश में रीवा के रहने वाले बीएसएफ जवान को देश की गोपनीय और संवेदनशील सूचनाएं आईएसआई के साथ साझा करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है।
फेसबुक पर आईएसआई एजेंट से दोस्ती
ओपी सिंह ने बताया कि आरोपी से अभी पूछताछ की जा रही है। पुलिस प्रमुख ने बताया कि प्रारंभिक पूछताछ के दौरान अच्युतानंद ने स्वीकार किया है कि उसने भारत के सामरिक महत्व के ठिकानों, आंतरिक सूचनाएं और BSF और सेना के प्रशिक्षण केन्द्रों आदि की सूचनाएं आईएसआई को दी हैं। उन्होंने कहा, ‘पूछताछ में पता चला है कि आईएसआई की एक महिला एजेंट ने कॉन्स्टेबल से फेसबुक पर दोस्ती की थी। अच्युतानंद ने बीएसएफ के कई महत्वपूर्ण दस्तावेज महिला के साथ साझा किए।’
बैंक अकाउंट खंगाले जाएंगे
ओपी सिंह ने बताया कि अच्युतानंद के बैंक के खातों को भी खंगाला जा रहा है। इससे पता चलेगा कि उन्होंने सूचनाएं साझा करने के बदले आईएसआई से धन लिया है या नहीं। उन्होंने कहा कि आरोपी जवान के खिलाफ देशद्रोह सहित अन्य धाराओं में मामला दर्ज किया जाएगा।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »