पीएम थेरेसा मे की Brexit deal को सांसदों ने मतदान कर किया खारिज़

लंदन। ब्रिटेन के सांसदों ने बिना समझौते के ही अव्यवस्थित Brexit deal को खारिज़ कर दिया लेकिन यूरोपीय संघ में पहले से अटके पड़े समझौते को बदलने की ब्रिटेन की प्रधानमंत्री टेरेसा मे की कोशिश का समर्थन किया।

इससे पहले ब्रिटेन के सांसदों ने प्रधानमंत्री टेरीजा के Brexit deal को बदलने के पक्ष में मतदान किया। इससे पहले ब्रेग्जिट मामले में अनिश्चितता के बीच महारानी एलिजाबेथ द्वितीय ने इस मुद्दे पर आम सहमति का आह्वान किया था। ब्रिटेन की महारानी ने हालांकि इस मुद्दे पर सीधे कोई टिप्पणी नहीं की थी।

कंजर्वेटिव पार्टी की सांसद कैरोलिन स्पेलमैन और लेबर पार्टी के सांसद जैक ड्रोमे ने ईयू से ब्रिटेन के बिना समझौते के निकलने को रोकने के लिए एक संशोधन पेश किया जिसे 310 के मुकाबले 318 मतों से समर्थन मिला। इससे सरकार का यह तर्क कमजोर हो गया कि ब्रिटेन बिना समझौते के भी ईयू से बाहर निकलने का इच्छुक है।

हालांकि इस मतदान के परिणाम को मानना मे के लिए कानूनी रूप से बाध्यकारी नहीं है। यानी इससे हाउस ऑफ कामन्स के विचार का पता चलता है लेकिन मार्च 29 की ब्रेक्जिट तिथि में बदलाव से इसका कोई लेना देना नहीं है।

इसके कुछ ही देर बाद सांसदों ने सरकार समर्थित एक संशोधन के समर्थन में मतदान किया जिसमें ब्रेक्जिट के बाद विवादास्पद ‘आयरिश बैकस्टाप’ के ‘‘वैकल्पिक समझौतों’’ की बात की गई है। ‘आयरिश बैकस्टाप’ में ब्रिटेन और आयरलैंड के बीच कड़े नियंत्रण वाली और सुरक्षा बलों की तैनाती वाली (हार्ड बॉर्डर) सीमा से बचने की बात की गई है।

सांसद ग्राहम ब्रेडी ने इस संशोधन को पेश किया जिसे 301 के मुकाबले 317 मतों से समर्थन मिला।

-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »