London में हिंसक आयोजन की प्लानिंग कर रहे हैं ब्रिटेन के पाकिस्तानी

लंदन। ब्रिटेन में बसे पाकिस्तानी बेलगाम होते दिख रहे हैं। जम्मू-कश्मीर में प्रभावी आर्टिकल 370 हटाने के विरोध में London स्थित भारतीय उच्चायोग पर हिंसक प्रदर्शन करने के बाद ब्रिटिश पाकिस्तानियों का दुस्साहस बढ़ता ही जा रहा है। अब वो दीपावली के अवसर पर फिर से London में इसी तरह के हिंसक आयोजन की प्लानिंग कर रहे हैं।
भारतीय समुदाय चिंतित
पाकिस्तानियों के इस नापाक मंसूबे की भनक लगने पर ब्रिटिश भारतीय समुदाय चौकन्ना हो गया है और उसने लंदन के मेयर सादिक खान को अपनी चिंता से वाकिफ करवाया है। लंदन असेंबली में ब्रेंट एंड हॉरो के प्रतिनिधि और भारतीय मूल के लेबर पार्टी के नेता नवीन शाह ने चिट्ठी लिखकर मेयर सादिक खान को अपनी चिंताओं से वाकिफ करवाया है। मेयर ने नवीन शाह को लिखी जवाबी चिट्ठी में आश्वासन दिया है कि मेयर के नाते सुरक्षा व्यवस्था को दुरुस्त रखने की अपनी जिम्मेदारी निभाएंगे।
मेयर सादिक खान का आश्वासन
हालांकि, उन्होंने यह भी कहा है कि इस तरह के विरोध प्रदर्शन के दौरान सुरक्षा व्यवस्था का जिम्मा होम सेक्रटरी पर होता है, न कि मेयर पर। उन्होंने अपनी जवाबी चिट्ठी में होम सेक्रटरी प्रीति पटेल का भी मेंशन करते हुए एक प्रति उनके दफ्तर को भी भेजने की बात कही है। सादिक ने यह भी कहा कि दिवाली के पवित्र अवसर पर इस तरह के मार्च से भारतीय एवं पाकिस्तान मूल के लोगों के बीच तनाव बढ़ेगा और लंदन का माहौल खराब होगा। उन्होंने लिखा, ‘प्रतिरोध का अधिकार लोकतंत्र का महत्वपूर्ण एवं मूल्यवान हिस्सा है, लेकिन यह शांतिपूर्ण और कानून के तहत होना चाहिए।’
आर्टिकल 370 हटने के बाद से जारी है पाकिस्तानियों का प्रॉपगैंडा
ध्यान रहे कि 5 अगस्त को आर्टिकल 370 हटाए जाने के ऐलान के बाद पाकिस्तान ही नहीं दुनियाभर में रह रहे पाकिस्तानी भारत के खिलाफ प्रॉपगैंडा फैलाने में जुटे हैं। लंदन में पाकिस्तानी मूल के मेयर होने के नाते वहां रह रहे पाकिस्तानी कुछ ज्यादा ही हिमाकत कर रहे हैं। पाकिस्तानियों ने 15 अगस्त को भारतीय उच्चायोग में आयोजित स्वतंत्रता दिवस समारोह में हिंसा की। वहां विरोध करने पहुंची पाकिस्तानियों की हिंसक भीड़ ने जमकर बवाल काटा और जबर्दस्त तोड़-फोड़ की। ब्रिटिश पाकिस्तानियों ने उस हिंसक प्रदर्शन के दौरान भारत के राष्ट्रीय ध्वज का भी अपमान किया और उच्चायोग की बिल्डिंग पर अंडों, टमाटरों एवं पत्थरों से हमले किए। इस हमले में उच्चायोग की बिल्डिंग क्षतिग्रस्त हो गई।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *