Julian Assange के प्रत्यर्पण को ब्रिटेन ने दी मंज़ूरी

लंदन। अमेरिका के लिए मोस्ट वांडेट विकीलीक्स के संस्थापक Julian Assange के प्रत्यर्पण का रास्ता साफ हो गया है, ब्रिटेन के गृह सचिव साजिद जाविद ने प्रत्यर्पण आदेश पर हस्ताक्षर कर दिए हैं।

अब अदालत की कार्यवाही के बाद Julian Assange के अमेरिका प्रत्यर्पण का रास्ता साफ हो सकता है।

इससे पहले जुलियन असांजे स्वास्थ्य संबंधी दिक्कतों के कारण अदालत की कार्यवाही में शामिल नहीं हो पाए थे। ब्रिटेन में जमानत के दौरान फरार होने के सिलसिले में वह बेलमार्श अदालत में सजा काट रहे हैं। वह अमेरिका प्रत्यर्पित किए जाने के खिलाफ भी मुकदमा लड़ रहे हैं। अमेरिका ने उनपर सैन्य और राजनयिक सूत्रों के नाम उजागर करने वाले गोपनीय दस्तावेज को प्रकाशित कर जासूसी कानून का उल्लंघन करने का आरोप लगाया है।

किस केस में लंदन में बंद हैं Julian Assange

जूलियन असांजे को लंदन स्थित इक्वाडोर के दूतावास से गिरफ्तार किया गया था। असांजे पर आरोप है कि उसने जमानत की शर्तों के उल्लंघन को दोषी पाया गया था। गिफ्तारी और स्वीडन प्रत्यर्पित से बचने के लिए उसने इक्वाडो के दूतावास में शरण ली थी लेकिन बाद में उसे उसी दूतावास से गिरफ्तार करवाया गया।

स्वीडन भी कथित दुष्कर्म के लिए उनसे पूछताछ करना चाहता है। विकिलीक्स ने कहा है कि वह असांजे के स्वास्थ्य के बारे में बहुत चिंतित है। गोपनीयता की मुखालफत करने वाले संगठन ने कहा कि उन्हें जेल के स्वास्थ्य वार्ड में भेजा गया है।

इक्वाडोर की एक अदालत ने विकिलीक्स के संस्थापक जूलियन असांजे से जुड़े स्वीडिश नागरिक और कंप्यूटर हैकिंग के आरोपी की जमानत याचिका बुधवार को नामंजूर कर दी थी। असांजे ने 2012 से इक्वाडोर के लंदन दूतावास में शरण ली हुई थी।
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »